शिमला में हुए प्रदर्शन के दौरान 11 किसानों और बागवानों के खिलाफ एफआईआर दर्ज

0
87

शिमला में सचिवालय के बाहर प्रदर्शन कर रहे किसान और बागवान नेताओं पर पुलिस ने एफआईआर दर्ज कर दी है। सचिवलय प्रतिबंधित क्षेत्र है और सचिवालय के दोनों ओर प्रदर्शन हो नहीं सकता। इसलिए धरने में शामिल लोगों पर अब पुलिस ने एफआईआर दर्ज की है। पुलिस ने सचिवालय के बाहर प्रदर्शन करने के आरोप में 11 लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया है।

गौर हो कि किसानों और बागवानों ने मांगों को लेकर सैंकड़ों लोग शुक्रवार दोपहर को झंडे लेकर नवबहार चौक पर एकत्रित हुए और हाथ में बैनर, सेब उत्पादकों की मांगों के समर्थन में नारे लगाते हुए सडक़ पर आ गए। इस दौरान शाम तक किसानों और बागवानों ने सडक़ पर जाम लगाए रखा। जिससे कर्मचारियों, स्कूल के बच्चों सहित लोगों को भी दिक्कतों का सामना करना पड़ा। वहीं, पुलिस को जाम से निपटने के लिए रूट को डायवर्ट करना पड़ा था। पुलिस ने सचिवालय के पास सड़क पर प्रदर्शन करने और आम लोगों की आवाजाही बाधित करने के आरोप में 11 लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया है।

पुलिस ने एप्पल ग्रोवर एसोसिएशन के संजय चौहान, राजन हारटा, अर्निद्र सिंह नौटी, सोहन ठाकुर, किशोरी दिवालिया, पूर्व अध्यक्ष कुलदीप ठाकुर , रोशन लाल, रमेश वर्मा, हेमराज, राजन सहगल, सुखदेव चौहान के खिलाफ केस दर्ज किया है। जिन्हें पुलिस ने सचिवालय के नवबहार साइड के गेट पर बैरिकेड लगाकर रोका और सडक़ पर प्रदर्शन किया, जिससे आम लोगों की आवाजाही हुई। उधर, एसपी शिमला मोनिका भुटूंगरू का कहना है कि पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ 143, 341 आईपीसी के तहत केस दर्ज कर आगामी कार्रवाई शुरू कर दी है।

Leave a Reply