शिमला रिज पर धूमधाम से मनाई गई डॉ यशवंत सिंह परमार की 116वीं जयंती

0
25

शिमला: राजधानी शिमला में हिमाचल निर्माता डाॅ. यशवंत सिंह परमार की 116वीं जयंती धूमधाम से मनाई गई। शहरी विकास, आवास, नगर नियोजन, संसदीय कार्य विधि एवं सहकारिता मंत्री सुरेश भारद्वाज ने दौलत सिंह पार्क पर स्थापित डाॅ. यशवंत सिंह परमार की प्रतिमा पर पुष्पांजलि अर्पित कर कार्यक्रम की शुरूआत की। इस मौके पर उन्होंने कहा कि आज हिमाचल देश के बड़े राज्यों से आगे निकल कर विकास की गति को तीव्र से तीव्र रूप प्रदान करने में सक्षम हुआ है।

उन्होंने कहा कि हिमाचल के सृजन, निर्माण और विकास में यशवंत सिंह परमार का योगदान बहुत बड़ा है। यशवंत सिंह परमार व पंडित पदम देव जैसे लोगों ने छोटी-छोटी रियासतों को मिलाकर प्रदेश का स्वरूप तैयार करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। डाॅ. यशवंत सिंह परमार के सतत् प्रयासों से 1971 में हिमाचल प्रदेश भारत गणतंत्र का 18वां राज्य बना। उधर, उत्कृष्ट शिक्षा केन्द्र राजकीय महाविद्यालय संजौली में आजादी के अमृत महोत्सव के तहत पाक्षिक कार्यक्रम में वीरवार को पत्र-वाचन हुआ। इसमें स्वतंत्रता के लिए भारत का संघर्ष, पर्यावरण और नशा निवारण विषय पर महाविद्यालय के विद्यार्थियों ने पत्र वाचन किया। प्रतिभागी विद्यार्थियों में रिया ठाकुर, दीपिका, श्रीनिवास, चाहत शर्मा, क्षितिज बाली, हर्षणकुररुति चौहान, श्रेया ठाकुर व छवि ठाकुर शामिल रहे।

कांग्रेस नेताओं ने राजीव भवन में अर्पित किए श्रद्धासुमन
वहीं प्रदेश के पहले मुख्यमंत्री कांग्रेस नेता स्वर्गीय डाॅ. यशवंत सिंह परमार की जयंती पर वीरवार को कांगे्रस ने पार्टी मुख्यालय राजीव भवन में कार्यक्रम का आयोजन किया। इस दौरान कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष प्रतिभा सिंह के साथ ही अन्य नेताओं ने स्व. परमार के छायाचित्र पर श्रद्धासुमन अर्पित किए। कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष प्रतिभा सिंह ने कहा कि आज का यह दिन बहुत ही ऐतिहासिक है। उन्होंने कहा कि डाॅ. परमार के रूप में कांग्रेस को एक ऐसा नेता मिला, जिन्होंने प्रदेश के निर्माण में बहुत ही महत्वपूर्ण भूमिका निभाई।

उन्होंने कहा कि प्रदेश के 6 बार के मुख्यमंत्री स्व. वीरभद्र सिंह ने डाॅ. परमार के सपनों को आगे बढ़ाया और यही कारण है कि एक ओर जहां डा. परमार को हिमाचल निर्माता के रूप में जाना जाता है वहीं आधुनिक हिमाचल निर्माता के रूप में वीरभद्र सिंह को भी याद किया जाता है। कांग्रेस मुख्यालय में आयोजित कार्यक्रम मेंकार्यकारी अध्यक्ष हर्ष महाजन, गंगूराम मुसाफिर, आदर्श सूद, अतुल शर्मा, नरेश चौहान, हरीश जनारथा, अमित नंदा, इंद्रजीत, सुरेंद्र चौहान, रामकृष्ण शांडिल, आनंद कौशल, रितेश कपरेट, यशपाल तनाईक, सौरभ चौहान, सुशांत कपरेट, धर्मपाल ठाकुर, अरुण शर्मा, वेद प्रकाश, सेनराम नेगी, आकाश सैनी, राजेश वर्मा के साथ ही अन्य पार्टी पदाधिकारी व कार्यकर्ता मौजूद रहे।

विधानसभा में भी अर्पित की गई पुष्पांजलि
उधर, हिमाचल निर्माता डाॅ. यशवंत सिंह परमार की जयंती पर प्रदेश विधानसभा में भी एक कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इस दौरान डाॅ. परमार को याद करते हुए विधानसभा अध्यक्ष विपिन सिंह परमार, नेता प्रतिपक्ष मुकेश अग्निहोत्री, मंत्री सुरेश भारद्वाज, डाॅ. राजीव सहजल व सुखराम चौधरी, विधानसभा उपाध्यक्ष हंसराज, विधायक डाॅ. कर्नल धनीराम शांडिल, रोहित ठाकुर सहित अन्य नेताओं ने स्व. परमार को याद करते हुए उनके छायाचित्र पर पुष्पांजलि अर्पित की। इस दौरान स्व. परमार के पारिवारिक सदस्य सत्या परमार व कुश परमार भी मौजूद रहे।

परमार को याद कर भावुक हुए मुकेश अग्निहोत्री
नेता प्रतिपक्ष मुकेश अग्निहोत्री राज्य अतिथि गृह पीटरहॉफ में आयोजित कार्यक्रम के दौरान जब संबोधित कर रहे थे तो हिमाचल निर्माता डाॅ. यशवंत सिंह परमार का उल्लेख करने पर भावुक हो गए। उन्होंने कहा कि हिमाचल व देश के प्रति उनके योगदान को कभी भी भुलाया नहीं जा सकता है।

Leave a Reply