सरचू में बाइक रोकने के विवाद पर हाई कोर्ट ने कहा, आपसी बातचीत से निपटाएं मामला

0
23

शिमला। Himachal High Court, हिमाचल प्रदेश हाईकोर्ट ने मनाली बाइकर्स एसोसिएशन की बाइक को सरचू में रोकने से जुड़े विवाद को आपसी बातचीत से निपटाने के लिए मध्यस्थ नियुक्त करने का आदेश दिया है।

मुख्य न्यायाधीश अमजद ए सईद और न्यायाधीश ज्योत्सना रिवाल दुआ की खंडपीठ ने सभी पक्षकारों की सहमति से वरिष्ठ अधिवक्ता नरेश कुमार सूद को मध्यस्थ नियुक्त किया।

मनाली बाइकर्स एसोसिएशन ने आरोप लगाया है कि पर्यटक उनकी बाइक किराये पर लेते हैं, लाहुल-स्पीति होकर लद्दाख जाते हैं। उनकी बाइक को लद्दाख बाइक रेंटल को-आपरेटिव प्राइवेट लिमिटेड सरचू नामक स्थान पर ही रोक देती है। मजबूरन पर्यटकों को लद्दाख एसोसिएशन की बाइक किराये पर लेनी पड़ती हैं। इससे प्रार्थी एसोसिएशन को काफी नुकसान होता है।

घंडल बैली ब्रिज के नीचे भूस्खलन पर सरकार से जवाब तलब

राजधानी शिमला को निचले राज्यों से जोडऩे वाले घंडल बैली ब्रिज के नीचे भूस्खलन पर हाईकोर्ट ने संज्ञान लिया है। मुख्य न्यायाधीश अमजद ए सईद और न्यायाधीश ज्योत्सना रिवाल दुआ की खंडपीठ ने प्रदेश सरकार से रिपोर्ट तलब की है।

राष्ट्रीय राजमार्ग-205 पर घणाहट्टी के पास घंडल में बने बैली ब्रिज के नीचे भूस्खलन से मार्ग को खतरा पैदा हो गया है। भारी वर्षा से ब्रिज के एक तरफ के हिस्से के नीचे से मिट्टी खिसक गई है। इसे लेकर शिमला पुलिस ने इंटरनेट मीडिया पर एडवाइजरी जारी कर लोगों को सुरक्षित आवाजाही करने की हिदायत दी है। भूस्खलन की जगह पर तिरपाल लगाया है। सड़क का कुछ हिस्सा गिरने के बाद हाईकोर्ट ने संज्ञान लिया था। अदालत की ओर से समय-समय पर पारित आदेश के तहत प्रशासन ने घंडल में बैली ब्रिज का निर्माण किया था। एक वर्ष से अधिक समय बीत जाने के बाद भी इस सड़क को ठीक नहीं किया है।

Leave a Reply