Cleanliness Survey: स्वच्छता सर्वेक्षण में हमीरपुर ने हासिल किया दुसरा स्थान

0
50

हमीरपुर: नगर परिषद हमीरपुर (Municipal Council Hamirpur) इस बार अपनी बेहतर कार्यप्रणाली के चलते स्वच्छता सर्वेक्षण (cleanliness survey) में दूसरे स्थान पर रहा. ओडीएफ प्लस-प्लस (ओपन डिफेक्शन फ्री) अर्थात पूरी तरह खुले में शौच मुक्त घोषित होने वाली नगर परिषद बन गई. ऐसे में अब नगर परिषद हमीरपुर को केंद्र से ज्यादा बजट मिलेगा.

मनाली पहले नंबर पर: नंबर वन का खिताब नगर परिषद मनाली को (Manali at number one in cleanliness) मिला. बता दें कि 11 वार्डों वाली हमीरपुर नगर परिषद में मौजूदा समय में स्थानीय शहरियों के अलावा यहां रेंट पर रहने वालों की संख्या 40 हजार के लगभग (Forty thousand population in Hamirpur) है.चाहे साफ-सफाई की बात हो, सीवरेज कनेक्टिविटी की बात हो, या फिर शहर वासियों को मूलभूत सुविधाएं मुहैया करवाने की बात हो नगर परिषद हमीरपुर ने पिछले वर्षों की अपेक्षा काफी बेहतर काम किया है.

डस्टबिन फ्री का तमगा हमीरपुर के नाम: प्रदेश में पहला डस्टबिन फ्री (hamirpur dustbin free) होने का तमगा पहले ही नगर परिषद हमीरपुर के नाम रहा है. मार्च 2022 में केन्द्र सरकार ने स्वच्छता मिशन सर्वेक्षण (Sanitation Mission Survey Himachal) हिमाचल में करवाया था. इसमें केंद्र से आई टीमों ने गुप्त रूप से हुए प्रदेश भर की सभी नगर परिषदों और नगर पंचायतों में सर्वेक्षण किया.

800 अंक मिलेंगे अतिरिक्त: बता दें कि दूसरे नंबर पर आने के चलते हमीरपुर नगर परिषद को 800 अंक अतिरिक्त दिए जाएंगे. जिससे यह नगर परिषद अटल श्रेष्ठ शहर योजना (Atal Shrestha City Scheme) में बेहतर पोजीशन हासिल कर सकेगी. इससे 15वें वित्त आयोग से मिलने वाले बजट से अतिरिक्त धन दिया जाएगा.
सभी ने किया प्रयास: नगर परिषद हमीरपुर अध्यक्ष मनोज मिन्हास (Municipal Council Hamirpur President Manoj Minhas)ने बताया केंद्रीय टीम ने स्वच्छ भारत मिशन के तहत मार्च में सर्वेक्षण किया था. नगर परिषद हमीरपुर के लिए यह गौरव का विषय है कि हमने बेहतर प्रदर्शन किया. यह सब हमीरपुर नगर पंचायत के सभी पार्षदों के सहयोग से संभव हो पाया.

Leave a Reply