Right News

We Know, You Deserve the Truth…

जयराम ठाकुर जी, अपने प्रदेश की गरीब जनता की समस्याओं का समाधान करो- अंकिता ठाकुर, राष्ट्रीय हिंदू समाज पार्टी

प्रदेश में कोरोना के बिगड़ते और गरीबों के हालात को ध्यान में रखते हुए हिन्दू समाज पार्टी की कार्यकर्ता अंकिता ठाकुर ने मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर से गरीबों का ध्यान रखने और उनकी जरूरतों को पूरा करने की अपील की है। उन्होंने कहा कि कोरोना में चलते हम सभी को बहुत ही समस्या झेलनी पड़ रही हैं, लेकिन सरकार और प्रशासन हमारी समस्याओं का समाधान करने के लिए तैयार नही है। उन्होंने कहा कि हमारे यहां हर कोई इंसान अमीर नहीं है। प्रदेश में गरीब परिवारों के पास दैनिक खर्च चलाने के लिए अब कोई संसाधन बाकी नहीं बचा। लोग खुद मेहनत करके कमाते थे और खाते थे। परंतु आप वह अच्छे दिन चले गए।

उन्होंने भाजपा सरकार से सवाल पूछते हुए कहा कि सरकार ने कोरोना कर्फ्यू दस दिन आगे तो बढ़ा दिया लेकिन यह नही सोचा कि बिना काम और कमाई के गरीबों का घर कैसे चलेगा। उन्होंने मांग की कि प्रदेश सरकार प्रदेश के गरीब लोगों के बारे सोचे। कोरोना कर्फ्यू से उनके दैनिक जीवन में आ रही समस्याओं का समाधान करे।

अंकिता ठाकुर ने कहा कि हर किसी के घर में उनका कोई घर चलाने वाला नहीं है, और ना ही किसी के घर में चूल्हा-चौका चलाए रखने के लिए रोजगार बचा है। किसी के घर में छत नहीं है, लोगों ने समय पर अपने चार पैसे जमा किए हुए थे। वह पिछले साल ही लॉकडाउन के कारण उन्हें इस्तेमाल करके खत्म कर चुके हैं। अब आगे का जीवन बिना रोजगार कि कैसे चलेगा।

ऐसे में लोगों को भुखमरी का सामना करना पड़ रहा है और लोगों की दिन प्रतिदिन स्थिति दयनीय होती जा रही है। ना कोई आर्थिक सहायता अभी तक मिली है और ना ही सरकार की तरफ से हमारे गांव में पूर्ण रूप से सैनिटाइजेशन हो पाई है। अगर थोड़ी बहुत हुई भी है तो गरीब गांव की जनता द्वारा चुने गए हैं उन गरीब परिवारों के पंचायत सदस्यों ने ही की है और ना ही अभी तक वैक्सीन की सुविधा पूरी तरह से मिल पाई है।

उन्होंने सवाल उठाते हुए पूछा कि यह कैसा भविष्य है, हमारा यह कैसा नया भारत है, जहां गरीब भुखमरी के हालातों में जी रहे हैं। कमाने के लिए घर से बाहर जाओ तो कानून व्यवस्था और महामारी। घर में रहे तो भुखमरी। ऐसे में हमारा समाज और देश कैसे विकास करेगा। कौन किसका सहारा बनेगा।

अंकिता ठाकुर ने मुख्यमंत्री हिमाचल प्रदेश से सीधा सवाल करते हुए पूछा कि मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर बताए कि ऐसे हालात में प्रदेश की जनता क्या करे। उन्होंने आगे कहा कि हम समझते हैं कि कोरोना महामारी को रोकने के लिए लोक डाउन जरूरी है। परंतु जैसेकि आपने कोरोना कर्फ़्यू की घोषणा की थी और अब आपने इस कर्फ्यू को 26 मई तक आगे बढ़ा दिया है। तो आपको भी थोड़ा रुक कर कुछ दिन का सम्पूर्ण कर्फ्यू लगा देना चाहिए था। ताकि कोरोना महामारी प्रदेश से खत्म हो जाती और लोगों को भी आप पर यकीन बना रहता।

उन्होंने कहा कि हम चाहते हैं कि आप तो गरीब मध्यवर्ग किसान वर्ग सभी परिवारो की समस्या को ध्यान में रखते हुए उनके समस्याएं समाधान करने का प्रयास करें। आप आशा वर्कर और अन्य सामाजिक कार्यकर्ताओं से बातचीत करके लोगों की समस्याएं हल करने का प्रयत्न करें। अंकिता ठाकुर ने मांग की कि जब तक लोक डाउन है सरकार गरीबों को फ्री राशन दे।

टैक्स और बैंकों लोन की इंस्टॉलमेंट में राहत दे। जब तक कोरोना कर्फ्यू है आम जनता को बिजली और पानी माफ करके जनता को राहत दे। शिक्षा व्यवस्था में मची लूट को ध्यान में रखते हुए उन्होंने कहा कि कोरोना महामारी के कारण स्कूल, कॉलेज और यूनिवर्सिटी बंद है लेकिन फीस वसूलने में कोई कमी नही आई है। उन्होंने मांग की जब तक कोरोना कर्फ्यू है तब तक सरकार सभी शैक्षणिक संस्थाओं की फीस ना ले।

error: Content is protected !!