हिमाचल प्रदेश सरकार ने होम आइसोलेशन वाले मरीजों के लिए कई निर्देश जारी किए हैं। स्वास्थ्य विभाग के प्रवक्ता ने कहा कि होम आइसोलेशन में मरीज किसी भी प्रकार के लक्षण सामने न आने के लगभग 10 दिन बाद तीन दिन तक बुखार न होने पर होम आइसोलेशन से बाहर आ सकते हैं। होम आइसोलेशन के बाद कोविड जांच की आवश्यकता नहीं है। विभाग ने सलाह दी है कि होम आइसोलेशन के दौरान घर में किसी भी सूरत में रेमडेसिविर का इंजेक्शन न लें।

ओरल स्टेरॉयड्ज की भी सीमित भूमिका है। पांच दिन तक लक्षण समाप्त न होने पर इनहेशनल बुडेसोनाइड का उपयोग किया जा सकता है। स्वास्थ्य देखभाल कार्यकर्ता, अग्रिम पंक्ति के कार्यकर्ता और 45 साल से अधिक उम्र के लोगों को लगातार टीकाकरण करवाने में कोई परेशानी नहीं होगी।

स्पष्ट किया कि 45 वर्ष से अधिक आयु वर्ग के लोगों को वैक्सीन की पहली व दूसरी डोज लेने कोई समस्या नहीं होगी।

वर्तमान में राज्य में 45 वर्ष से अधिक आयु वर्ग के लोगों के लिए 2.08 लाख खुराक उपलब्ध हैं। 1.5 लाख वैक्सीन की खुराक और पहुंच गई हैं। बता दें, पिछले कुछ महीनों में राज्य में कोविड मामलों की संख्या में अप्रत्याशित वृद्धि हुई है और कम अवधि में ही सक्रिय मामले 218 से बढ़कर 18 हजार हो गए हैं।

सीएम सेवा संकल्प हेल्पलाइन के स्टाफ को किया जागरूक
कोविड मामलों को लेकर मुख्यमंत्री सेवा संकल्प हेल्पलाइन 1100 पर लगातार सवाल पूछे जा रहे हैं। ऐसे में राज्य निगरानी अधिकारी डॉ. राजेश ठाकुर व स्टेट इम्युनाइजेशन अधिकारी डॉ. हितेन बन्याल ने हेल्पलाइन के स्टाफ को जागरूक किया है।

error: Content is protected !!