Right News

We Know, You Deserve the Truth…

वैश्विक महामारी के बीच डिपुओं में राशन को मारामारी, सोशल डिस्टेंसिंग की नहीं परवाह

सरकार कोरोना से लड़ने के लिए हरसंभव प्रयास करने में जुटी है, लेकिन लोग अभी भी इस वैश्विक महामारी को हल्के में ले रहे हैं। ऐसे में ब्लॉक खंड परागपुर के अंतर्गत डाडासीबा में लोग कोरोना को भूलकर सोसल डिस्टेंसिंग की सरेआम धज्जियां उड़ा रहे हैं।  बुधवार को सुबह करीब आठ बजे डाडासीबा कृषि सहकारी सभा समिति डिपो के बाहर एक ऐसा ही ताजा उदाहरण देखने को मिला।

यहां सस्ता राशन लेने के लिए ‘पहले आओ, पहले पाओ’ की तर्ज पर एक साथ सैकड़ों लोगों की भीड़ जमा हो गई कि डिपो खुलते ही एक-दसूरे के साथ बहस बाजी करने  शुरू हो गई। उधर, उपमंडल जवाली के अधीन दी कृषि सहकारी सभा समिति भरमाड़ में बुधवार को कोविड-19 के आदेशों की जमकर धज्जियां उड़ीं। यहां भरमाड़ डिपो में राशन लेने आए राशनकार्ड धारकों की भारी भीड़ एकत्रित हो गई। समझाने के बाद भी लोग नहीं माने तो डिपो संचालक को मजबूरन पुलिस टीम मौके पर बुलबानी पड़ी।

सर्वर डाउन, खाली थैले लेकर लौटे लोग

मंडी, नौहराधार। प्रदेश भर के राशन के डिपुओं में सर्वर डाउन होने के कारण बायोमीट्रिक मशीन ठप रही। बुधवार को अधिकांश क्षेत्रों में उपभोक्ताओं को बिना राशन लिए लौटना पड़ा। हालांकि सर्वर कुछ घंटे के लिए डाउन रहा, लेकिन कोरोना कर्फ्यू की अवधि समाप्त होने तक लोगों को वापस लौटना पड़ा। ऐसा ही वाकया जिला सिरमौर के नौहराधार क्षेत्र के 15 डिपुओं में सर्वर डाउन होने से डिपुओं में राशन न मिलने से सैकड़ों लोग बिना राशन लिए घर लौट गए। उपभोक्ताओं ने सरकार से मांग की है कि बायोमीट्रिक मशीनों को बंद कर राशनकार्ड पर ही राशन मिलना चाहिए या कोई और विकल्प देखा जाए।

error: Content is protected !!