हिमाचल प्रदेश शिक्षा बोर्ड करेगा सलेब्स में 30 फीसदी की कटौती, आज होगी शिक्षा मंत्री और अधिकारियों की बैठक

HPBOSE Reduced Syllabus; कोरोना महामारी के कारण प्रदेश सरकार के निर्देशों के अनुसार हिमाचल स्कूल शिक्षा बोर्ड ने नौवीं से जमा दो कक्षा तक के पाठ्यक्रम में कटौती करने की प्रक्रिया शुरू कर दी है।

स्कूल शिक्षा बोर्ड पाठ्यक्रम में कटौती को लेकर पिछले एक सप्ताह से लगातार विभिन्न वर्गों के विषयों के विशेषज्ञों और अध्यापक वर्ग से बैठकें कर रहा है और पाठ्यक्रम कटौती को लेकर सभी से सुझाव लिए जा रहे हैं। शिक्षा बोर्ड पाठ्यक्रम कटौती को लेकर अभी चार ओर बैठक करेगा। उससे पूर्व आज बुधवार को शिक्षा मंत्री गोविंद ठाकुर धर्मशाला में शिक्षा बोर्ड के अधिकारियों के साथ इस विषय में चर्चा करेंगे।

अभी की बैठकों के यह बात सामने आई है कि सभी विषयों के विशेषज्ञों और शिक्षकों ने बोर्ड को हर विषय का 30 फीसद सिलेबस कम करने का सुझाव दिया है। इसके मुख्य रूप के व्याख्यात्मक पाठों को विषय से हटाने को कहा गया है। उसके स्थान पर एमसीक्यू रखें जाएं।

सभी बैठकें होने के बाद शिक्षा बोर्ड की ओर से प्रस्ताव प्रदेश सरकार को भेजा जाएगा। बताया जा रहा है कि 25 सितंबर से पूर्व सरकार बोर्ड के प्रस्ताव एवं प्रारूप का अध्ययन कर पाठ्यक्रम कटौती को स्वीकृति देगी। शिक्षा मंत्री गोविंद ठाकुर ने कहा सितंबर में स्कूलों के लिए कटौती के साथ नया पाठ्यक्रम जारी कर दिया जाएगा।

उन्होंने कहा राष्ट्रीय शिक्षा नीति-2020 भारत को विश्वगुरू के सिंहासन पर विराजमान करने के लिए प्रतिबद्ध है और इसके माध्यम से एक ऐसी शिक्षा अपने बच्चों को देना चाहते हैं जिसके दम पर बच्चे वैश्विक बन सकें और विश्व की ज्ञान की वह शक्ति भारत बने जिस दिशा में यह शिक्षा नीति कार्य कर रही है।

शिक्षा नीति के तहत ही प्रदेश में स्टार्स प्रोजेक्ट विश्व बैंक के सौजन्य से भारत सरकार द्वारा देश के छह राज्यों में चलाया जा रहा है। जिसमें हिमाचल प्रदेश, मध्य प्रदेश, केरल, उड़ीसा, महाराष्ट्र, और राजस्थान हैं। उन्होंने कहा इस प्रोजेक्ट के माध्यम से बच्चों को शुरुआती शिक्षा और मजबूत अधिगम तथा आधारभूत संरचना को मजबूती प्रदान की जाएगी। उन्होंने कहा शिक्षा नीति के ढांचे को चुस्त-दुरुस्त करने के लिए स्टार प्रोजेक्ट के तहत हिमाचल प्रदेश को 650 करोड़ रुपये प्राप्त होंगे। यह प्रोजेक्ट पांच वर्ष तक कार्य करेगा।

error: Content is protected !!