मंडी न्यूज़; जब काफिला रोक कर महिला के साथ उसके घर जा पहुंचे मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर

मंडी : मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर सोमवार को मंडी जिले के दौरे पा थे। उन्होंने मंडी के कोटली में विभिन्न विकास योजनाओं का उद्घाटन और शिलान्यास किया। मंडी से जब वे लौट रहे थे तभी चनौण गांव के पास सड़क किनारे खड़ी एक महिला ने काफिला रूकने पर मुख्यमंत्री को एक कागज थमाया। यह एक मरीज का प्रार्थना पत्र था जो एक दुर्घटना के बाद दो साल से बिस्तर पर है। किशन चंद नाम के इन शख्स ने लिखा था कि वह चल फिर नहीं सकते, इसलिए मेडिकल भी नहीं करवा रहे। उन्होंने मेडिकल करवाने के लिए ऑनलाइन आवेदन किया था मगर अभी कोई कार्यवाही न होने के कारण उन्हें सरकार की ओर से किसी तरह की आर्थिक मदद नहीं मिल पाई है।

मुख्यमंत्री ने वहीं उस प्रार्थना पत्र पर एक लाख रुपये की फौरी मदद करने का नोट लिखा और कहा कि वह अधिकारियों से कहेंगे कि इस मामले को जल्दी देखें और पात्र होने पर सहारा योजना के तहत पेंशन लगाएं। मगर किशन चंद के परिवार की महिलाओं, जिनमें उनकी पत्नी भी शामिल थीं, ने सीएम से गुजारिश की कि वह उनके घर चलकर एक बार खुद उनकी हालत देख लें। इसके बाद मुख्यमंत्री महिला के साथ उसके घर गए। यहां उन्होंने किशन कुमार से मुलाकात की और उनका हाल जाना। इस दौरान किश्न भी भावुक होकर अपनी मजबूरी बताते नजर आए। सीएम ने डीसी मंडी को कहा कि राज्य सरकार की सहारा योजना के तहत इन्हें जल्द पेंशन लगाई जाए। मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर की ओर से शुरू की गई इस योजना के तहत गंभीर बीमारी के कारण चलने फिरने में असमर्थ हो जाने वालों को हर महीने तीन हजार रुपये की आर्थिक मदद दी जाती है। यह योजना प्रदेश में अब तक हजारों लोगों के लिए सहारा बन चुकी है। 

error: Content is protected !!