Kangra News: सेल्फी के चक्कर में दो युवक ब्यास में डूबे, घर से निकले थे बहाना बना कर

कांगड़ा। हिमाचल प्रदेश के कांगड़ा जिला से एक दर्दनाक खबर सामने आई है। जिला कांगड़ा में देहरा के तहत फेरा गांव के साथ बह रही ब्यास नदी में दो छात्र डूब गए हैं।

बताया जा रहा है कि ये हादसा सेल्फी लेते समय हुआ है। छात्रों की तलाश के लिए एनडीआरएफ की टीम ने सर्च ऑपरेशन शुरू कर दिया है। डूबने वाले छात्रों के नाम अंशुल और आयुष हैं, जो कि अपने पांच स्‍कूली दोस्‍तों के साथ ब्यास नदी के किनारे चट्टानों पर पार्टी करने और सेल्फी लेने आए थे। जबकि इस छात्रों ने घर में आधार कार्ड अपडेट करने का बहाना लगाया था। अंशुल और आयुष गवर्नमेंट सीनियर सेकेंडरी स्कूल गरली में जमा एक के छात्र है। घटनास्थल पर कपड़े, कोल्डड्रिंक की बोतल व गिलास मिले हैं। इसके अलावा स्कूटी भी सड़क किनारे खड़ी मिली है। फिलहाल नूरपुर से आई एनडीआरएफ की 16 सदस्यीय टीम, ज्वालामुखी के डीएसपी चन्द्रपाल सिंह व देहरा पुलिस सर्च ऑपरेशन में जुटी है।

जानकारी के अनुसार, अंशुल कुमार पुत्र वीरेंद्र कुमार गांव कठियाडा गरली जिला कांगड़ा का रहने वाला था, जो कि अपने माता और पिता का इकलौता बेटा था। ऊना जिला के अम्ब के गांव पोलिया परोतां का रहने वाला आयुष पुत्र राजपाल गांव व डाकघर गरली में अपने मामा के घर रहता था। । ये दोनों शनिवार को सुबह स्कूटी पर सवार होकर परागपुर की तरफ गए थे, लेकिन शाम को घर नहीं पहुंचे तो परिजनों ने पहले अपने स्तार पर इन की तलाश की। इसके बाद स्कूटी देहरा के लोहर सुनहेत से चंबा पत्तन रोड पर फेरा गांव में ब्यास नदी के किनारे मिली औकर फिर परिजनों के ब्यास नदी के किनारे चट्टानों के बीच रेत पर इन दोनों के कपड़े और मोबाइल मिले। देहरा का कार्यभार देख रहे डीएसपी ज्वालामुखी चन्द्रपाल सिंह ने बताया कि गरली स्कूल में पढ़ने वाले दो छात्र बीते कल ब्यास नदी में डूबे हैं, जिन्हें एनडीआरएफ टीम व गोताखोर ढूंढ रहे हैं। उन्होंने कहा कि पुलिस हर पहलू की जांच कर रही है। फिलहाल किसी भी बच्चे की डेड बॉडी नहीं मिली है। घटनास्थल पर कपड़े व स्कूटी मिली है।

error: Content is protected !!