बालीचौकी में किसानों और बागवानों को आर्थिक स्थिति मजबूत करने बारे प्रशिक्षण संपन्न

किसान व बागवान अपने आर्थिक स्थिती को विभाग के साथ जुड़ कर मजबूत कर सकता है । यह बात पांच दिवसीय के समापन सामरोह में डा जेजे बीकान्दाकटृी वैज्ञानिक सी ने बालीचौकी में आए प्रशिक्षुओं से बातचीत करते हुए कही। अनुसंधान प्रसार केंद्र के सौजन्य पालमपूर केंद्र व राज्य सरकार द्वारा आयोजित इस कार्यकम में दो दर्जनों से भी अधिक किसानों व बागवानों ने संबधित विभाग को लेकर प्रशिक्षण लिया।

जानकरी देते हुए डा अरविंद भारद्वाज ने कहा कि केंद्रीय तसर अनुसंधान एंव प्रशिक्षण संस्थान केंद्रीय रेशम बोर्ड भारत सरकार के कार्यलय पालपूर के सौजन्य से आयोजित किया गया। जिसमें दो दर्जनों से भी अधिक किसानों व बागवानों को संबधित विभाग के क्रिया कल्यापों का प्रशिक्षण दिया गया। उन्होंने कहा कि इस पांच दिवसीय प्रशिक्षिण में वन्य सिलिक को लेकर विस्तार से बताया गया। जबकि इसमें धागाकरण, विशुद्विकरण सहित कई प्रकार की जानकारी दी गई। ताकि किसान अपने स्तर पर अपनी आर्थिक स्थिती को विभाग से अनुदान लेकर अपना कार्य कर सकें। इस अवसर पर एसके कौल व आर सी वर्मा तकनीकि सहायक ने अपने भी विस्तार से कई जानकारीयां दी।

इस अवसर पर डा अरविंद रेशम अधिकारी ने भी रेशम से संबधित व्यापाक स्तर पर भी जानकारी दे कर पांच दिवसीय शिविर में लोगों को उत्साहित भी किया।

error: Content is protected !!