Treading News

हिमाचल में अब तक 5 पावरफुल राजपूत रहे सीएम, जाने आज तक कौन कौन रहा मुख्यमंत्री

शिमला. हिमाचल प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 (Himachal Pradesh Assembly Election 2022) में एक सवाल यह भी है कि कौन बनेगा मुख्यमंत्री, क्योंकि राज्य में लगातार दूसरी सत्ता पाने का सपना कई दशकों से अधूरा ही है।

राज्य में सत्ता की बागडोर कांग्रेस व बीजेपी के बीच बंटती रही है। लेकिन हिमाचल की राजनीति को समझने के लिए यहां की राजशाही को भी समझना होगा। राजपूतों का गढ़ माने जाने वाले हिमाचल प्रदेश की राजनीति में भी राजपूतों का ही जलवा रहा है। यही कारण है कि राज्य में अब तक बने ज्यादातर मुख्यमंत्री राजपूत रहे हैं।

वीरभद्र सिंह की सत्ता पर रही पकड़
हिमाचल प्रदेश में राजशाही परिवार से ताल्लुक रखने वाले पूर्व मुख्यमंत्री स्व. वीरभद्र सिंह की राज्य में मजबूत पकड़ थी। वीरभद्र सिंह अकेले ऐसे व्यक्ति हैं जो एक-दो बार नहीं बल्कि 6 बार हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री बने। उन्होंने दो बार अपना कार्यकाल पूरा किया और करीब 17 वर्ष तक राज्य के मुख्यमंत्री बने रहे। हालांकि राज्य के पहले मुख्यमंत्री यशंवत सिंह परमार भी दो बार सीएम बने और लंबे समय तक सत्ता संभालते रहे। इसके बाद नंबर आता है प्रेम कुमार धूमल का जो दो बार सीएम बने और दोनों ही बार 5 साल का कार्यकाल पूरा किया। हिमाचल प्रदेश विधानसभा चुनाव 2017 में भाजपा को प्रचंड बहुमत मिला लेकिन चौंकाने वाला परिणाम यह रहा कि धूमल अपनी सीट नहीं बचा पाए।

5 पावरफुल राजपूत बने सीएम
राज्य की राजनीति में राजपूतों का दबदबा इसी बात से समझा जा सकता है कि राज्य में अब सबसे पावरफुल 5 सीएम रहे हैं, जो सभी राजपूत बिरादरी के हैं। यशवंत सिंह परमार, ठाकुर रामलाल, वीरभद्र सिंह, प्रेमकुमार धूमल और अब जयराम ठाकुर सभी राजपूत हैं। पांचों मुख्यमंत्रियों के कार्यकाल को जोड़ दिया जाए तो आजादी के बाद 50 वर्षों से ज्यादा समय तक हिमाचल की गद्दी पर राजपूत सीएम ही काबिज रहे हैं। यशवंत परमार 4 बार मुख्यमंत्री बने, वीरभद्र सिंह 6 बार मुख्यमंत्री बने, प्रेमकुमार धूमल 2 बार सीएम रहे, ठाकुर रामलाल 2 बार मुख्यमंत्री बने। वहीं अब जयराम ठाकुर दूसरी बार सीएम बनने की रेस में हैं।

हिमाचल प्रदेश के अब तक के मुख्यमंत्री
. यशवंत सिंह परमार (कांग्रेस 8 मार्च 1952 से 31 अक्टूबर 1956)
. यशवंत सिंह परमार (1 जुलाई 1963 से 28 जनवरी 1977)
. ठाकुर रामलाल (कांग्रेस 28 जनवरी 1977 से 30 अप्रैल 1977)
. शांता कुमार (जनता पार्टी 22 जून 1977 से 14 फरवरी 1980)
. ठाकुर रामलाल (कांग्रेस 14 फरवरी 1980 से 7 अप्रैल 1983)
. वीरभद्र सिंह (कांग्रेस 8 अप्रैल 1983 से 8 मार्च 1985)
. वीरभद्र सिंह (कांग्रेस 8 मार्च 1985 से 5 मार्च 1990)
. शांता कुमार (भाजपा 5 मार्च 1990 से 15 दिसंबर 1992)
. वीरभद्र सिंह (कांग्रेस 3 दिसंबर 1993 से 24 मार्च 1998)
. प्रेम कुमार धूमल (भाजपा 24 मार्च 1998 से 6 मार्च 2003)
. वीरभद्र सिंह (कांग्रेस 6 मार्च 2003 से 30 दिसंबर 2007)
. प्रेम कुमार धूमल (भाजपा 30 दिसंबर 2007 से 24 दिसंबर 2012)
. वीरभद्र सिंह (कांग्रेस 25 दिसंबर 2012 से 26 दिसंबर 2017)
. जयराम ठाकुर (भाजपा 27 दिसंबर 2017 से अब तक)

Comments: