हिमाचल के इन कर्मचारियों को मिला तोहफा, 10 साल पदोन्नति की शर्त हटाई

शिमला। जयराम सरकार ने लंबे समय से कर्मचारियों की लंबित मांग को मानते हुए उन्होंने एक बड़ा तोहफा दिया है। सरकार ने लिपिक और जूनियर ऑफिस असिस्टेंट वर्ग के हजारों कर्मचारियों के वरिष्ठ सहायक बनने के लिए नियमित सेवाकाल की दस साल की शर्त को तीन साल कम कर दिया है। अब सात साल का नियमित सेवाकाल पूरा करने के बाद संबंधित कर्मचारी पदोन्नति के लिए पात्र हो जाएगा।

बता दें कि अभी तक कर्मचारियों को पहले तीन साल अनुबंध सेवा और उसके बाद दस साल का नियमित सेवाकाल पूरा करना जरूरी होता था। तेरह साल की सेवा के बाद वह प्रमोशन के लिए पात्र बन पाते थे। लंबे समय से कर्मचारी संगठनों की ओर से इस अनुबंध काल को नियमित सेवा काल की शर्त में समाहित करने की मांग उठती रही थी। चूंकि अब जल्द ही कर्मचारियों के साथ सरकार की जेसीसी बैठक होनी है, ऐसे में सरकार ने इस बैठक से पहले ही कर्मचारियों को बड़ी सौगात दे दी है। इस फैसले से हजारों कर्मचारियों को पदोन्नति का लाभ जल्द मिल सकेगा। वहीं, हिमाचल प्रदेश समस्त विभाग लिपिक वर्ग कर्मचारी महासंघ ने लिपिक से सीनियर असिस्टेंट पदोन्नति की समयावधि 10 वर्ष से सात साल करने पर सरकार का आभार जताया है।

error: Content is protected !!