कृषि कानूनों की वापसी की घोषणा से मंडी में खुशी की लहर, भारतीय किसान यूनियन ने मिठाइयां बांट कर मनाई खुशी

आज सुबह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा कृषि कानूनों को वापिस लेने की घोषणा के साथ ही पूरे देश के किसानों के बीच खुशी का माहौल है। किसानों की खुशी है कि आखिर एक साल के आंदोलन के बाद सरकार बैक फुट पर आई और काले कृषि कानूनों को वापिस ले लिया। इस खुशी का जश्न भारतीय किसान यूनियन(टिकैत) की जिला मंडी इकाई ने भी मनाया। इस मौके पर मंडी के अध्यक्ष खूब राम अपने सहयोगियों के साथ उपस्थित रहे। उन्होंने मंडी में रैली निकाली और किसानों ने मिठाइयां भी बांटी।

इस मेले पर भारतीय किसान यूनियन(टिकैत) के जिला अध्यक्ष खूब राम ने कहा कि यह बेहद खुशी की बात है केंद्र सरकार अपने द्वारा लाए काले कानूनों को वापिस ले रही है। सरकार द्वारा किसानों को लूट कर पूंजीपतियों को लाभ पहुंचाने का षड्यंत्र विफल रहा। जिसके लिए भारतीय किसान यूनियन, संयुक्त किसान मोर्चा समेत सभी किसान संगठन बधाई के पात्र है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भले ही कानून वापिस लेने की घोषणा कर दी हो लेकिन अभी भी एमएसपी समेत कई ऐसे मुद्दे है जिस पर उन्होंने कोई बात नही कही और ना ही किसानों को इन मुद्दों पर बात करने के लिए बुलाया। यह बेहद दुखद है कि सैकड़ों किसानों के बलिदान पर भी प्रधानमंत्री ने कोई संवेदना व्यक्त नही की।

भारतीय किसान यूनियन के जिला अध्यक्ष खूब राम ने इस मौके पर बल्ह के किसानों के साथ हो रहे अन्याय के मामले में हिमाचल प्रदेश सरकार को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि हिमाचल सरकार बल्ह के किसानों को बर्बाद करने पर आमादा है। उन्होंने मांग उठाते हुए कहा कि हिमाचल प्रदेश सरकार भूमि अधिग्रहण कानून 2013 को तत्काल लागू करे और कानून के हिसाब से हिमाचल के फोरलेन प्रभावित किसानों के हित में चार गुना मुआवजा देकर उनको पुनर्वासित भी करे। उन्होंने सवाल उठाते हुए कहा कि जब केंद्र सरकार को चार गुना मुआवजा देने में कोई समस्या नही है तो हिमाचल सरकार क्यों अड़ंगा डाल रही है। खूब राम से मुख्यमंत्री हिमाचल प्रदेश से मांग की कि वह अपने ड्रीम प्रोजेक्ट के लिए बल्ह की उपजाऊ भूमि को बर्बाद ना करके किसी दूसरी और खाली जगह एयरपोर्ट का निर्माण करवाए। ताकि बल्ह के 12000 किसान परिवार परेशान ना हो।

खूब राम ने आगे कहा कि हम मंडी के समस्त किसान राकेश टिकैत के साथ है और उनका जो फैसला होगा वह सर्व मान्य होगा। खूब राम ने सभी किसानों और बागवानों को बधाई देते हुए सभी का धन्यवाद भी किया और कहा कि हमें आशा है कि आगे भी प्रदेश के किसानों और बागवानों का सहयोग भारतीय किसान यूनियन को मिलता रहेगा।

error: Content is protected !!