सोलन; प्रधान की कुर्सी पर बैठा था पति, जांच करने आई टीम के साथ की पार्टी

सोलन. नालागढ़ की मझौली पंचायत का एक वीडियो सोशल मीडिया (Social Media) पर वायरल हो रहा है. इस वीडियो में महिला प्रधान का पति प्रधान की कुर्सी पर बैठा हुआ दिखाई दे रह है.

वहीं अब जब इस मामले की जांच की जा रही है तो एक और वीडियो सामने आया है. इस वीडियो में मामले की जांच कर रही टीम आरोपी के साथ शराब पार्टी (Alcohol Party) करती हुई दिखाई दे रही है. सोशल मीडिया पर ये वीडियो खूब वायरल हो रहा है.

इस वीडियो को लेकर शिकायतकर्ता द्वारा कहा गया है कि मझौली पंचायत प्रधान के पति नियमों को ताक पर रखकर प्रधान की सीट पर बैठ गए थे. उसके बाद जब इस बारे में वीडियो कार्यालय में शिकायत दर्ज की गई तो जांच करने के लिए आई टीम ने आरोपी के साथ एक होटल में शराब पार्टी की. उन्होंने कहा कि इस बारे में उनके पास वीडियो और फोटो दोनों मौजूद है. जिसमें साफ़ देखा जा सकता है कि किस तरह जांच करने वाली ही टीम मामले को दबाने के लिए आरोपी के साथ शराब पार्टी करती हुई दिख रही है.

शिकायतकर्ता का कहना है कि जिस टीम को मामले की जांच का जिम्मा दिया गया था, वही आरोपी से मिलीभगत करके शराब पार्टी कर रही है. इस पार्टी की वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है. वायरल वीडियो के बाद बीडीओ कार्यालय नालागढ़ पर भी सवालिया निशान उठने शुरू हो चुके हैं.

शिकायतकर्ता द्वारा भी सवाल उठाते हुए कहा गया है कि काफी समय बीत जाने के बाद भी आरोपी के खिलाफ क्यों कोई कार्रवाई नहीं गई है. फिलहाल शिकायतकर्ता ने स्थानीय प्रशासन को चेतावनी देते हुए कहा है कि अगर जल्द ही आरोपी एवं जांच करने आई टीम के खिलाफ कार्रवाई नहीं की गई तो वह सीएम जयराम ठाकुर का भी दरवाजा खटखटाएंगे.अगर फिर भी कोई कार्रवाई नहीं हुई तो धरना प्रदर्शन करने को भी मजबूर होंगे. जिसकी जिम्मेदारी सरकार व प्रशासन की होगी.

इस बारे में जब हमने बीडीओ नालागढ़ विश्वा चौहान से बात की तो उनका कहना है कि वह न्यू नालागढ़ में किसी कार्यक्रम में शामिल हुए हैं. मझौली पंचायत में पति प्रधान द्वारा कुर्सी पर बैठने के मामले में जांच की जा रही है. जब उनसे पूछा कि जांच करने आई टीम द्वारा आरोपी के साथ शराब पार्टी की गई तो उन्होंने कहा कि इस बारे में उन्हें जानकारी नहीं है.

वहीं मझोली पंचायत की प्रधान के पति राजी ने कहा कि वह ढोल बजाने का काम करता है. वह किसी से साई लेने के लिए 19 अक्टूबर को गया था. उसने अपने ऊपर लगे हुए सभी आरोपों को नकारते हुए कहा कि उसने किसी को भी शराब पार्टी नहीं दी और वहां पर पहले से ही सेक्रेटरी व अन्य अधिकारी मौजूद थे. वहीं इस बारे में जब हमने जांच करने आई टीम के सदस्यों से बातचीत करने की कोशिश की गई तो किसी ने भी फोन नहीं उठाया और अपनी तरफ से कोई भी पक्ष नहीं रखा गया.

Please Share this news:
error: Content is protected !!