कोरोना की भेंट चढ़ा दुसरे साल भी मेला नलवाड़ ख्योड़, औपचारिक मात्र होगा मेले का आयोजन


गोहर, सुभाग सचदेवा। कोरोना काल के चलते लगातार दुसरे साल मेला नलवाड़ ख्योड़ का आयोजन रद्द कर दिया गया है। उपमंडलाधिकारी नागरिक गोहर से मिली जानकारी के अनुसार कोरोना संक्रमण के बढ़ते प्रभाव को देखते हुए प्रदेश सरकार ने बंदिशें जारी रखने का निर्णय लिया है। बंदिशों के चलते तीन विधानसभा व एक लोकसभा सीट पर होने वाले मध्यावधि चुनाव भी कुछ समय के लिए टाल दिए गए हैं।

प्रदेश में कोरोना संक्रमण के बढ़ते प्रभाव को देखते हुए 1952 से निर्विघ्न चला आ रहा जिला स्तरीय मेला नलवाड़ ख्योड़ गत वर्ष भी आयोजित नहीं हो पाया था इस वर्ष भी कोरोना के दिनों दिन बढ़ते प्रभाव के कारण प्रशासन द्बारा जिला स्तरीय मेला नलवाड़ ख्योड़ को औपचारिकता मात्र ही मनाने का निर्णय लिया गया है। परम्परा निभाने के लिए खूंटी गाढ कर बैलों की पूजा अर्चना कर मेरे के आयोजन की परम्परा निभाई जाएगी।

काबिले गौर है कि मेला नलवाड़ ख्योड़ का आयोजन रद्द होने से हजारों व्यापारियों को करोड़ों रुपए का आर्थिक नुक्सान उठाना पड़ेगा।इस मेले में स्थानीय सहित दुसरे राज्यों में हजारों व्यापारियों के आने से करोड़ों का व्यापार होता है। मगर गत दो वर्षों से कोरोना के कारण मेला नलवाड़ ख्योड़ का आयोजन नहीं हो पाया। जिससे करोड़ों रुपए का व्यापार प्रभावित हुआ जीससे सरकार को भी लाखों रुपए का राजस्व का नुक्सान उठाना पड़ रहा है।

इस समाचार पर अपनी प्रतिक्रिया जरूर दें:

error: Content is protected !!