व्यवस्थाओं को ठेंगा, बहुओं ने टब में बिठाकर मेन सड़क तक पहुंचाई कोरोना पॉजिटिव सास

जयसिंहपुर : ये ना वो सास है, जिस तरह सास को सास बहू और साजिश में दिखाया जाता है और ना ये उस तरह की बहुएं हैं, जो सास को सिर्फ सास मानती है। इस सास के लिए ये बहुएं उसकी बेटियां है और बहु के लिए उनकी सास मां है वरना ऐसे ही कौन कोरोना पॉजिटिव को इस तरह से ट्रीट करते नजर आता है।

जी हां दो बहूओं ने अपनी बुजुर्ग कोरोना पॉजिटिव सास को टब में बैठाकर मुख्य मार्ग तक पहुंचाया वो भी उस परिस्थिति में जिस परिस्थिति में वे खुद बीमारी थी। ये मामला है जिला कांगड़ा के जयसिंहपुर की पपलाह पंचायत के सयारा गांव का है। परिवार की मुखिया इंद्रा देवी ने बताया कि दो दिन पहले उसकी सास और पति को कोराना के लक्षण आए थे। ऐसे में दोनों को टेस्ट के लिए अस्पताल ले जाना था। पीठ में ट्युमर के मरीज पति को जैसे-तैसे उबड़-खाबड़ खतरनाक सड़क तक पहुंचाया, लेकिन बुजुर्ग सास घर से 150 मीटर दूर मेन रोड तक चलने में असमर्थ थी, ऐसे में डिस्क की मरीज इंद्रा देवी ने अपनी कैंसर ग्रसित देवरानी की मदद से सास को मेन रोड तक पहुंचाया।

शर्म की बात ये है कि इन महिलाओं ने जब गांव वालों से मदद मांगी तो कोरोना के लक्षणों से डरते हुए इनकी बात सुनना भी मुनासिब नहीं समझा। लिहाजा इंद्रा देवी ने बहते आंसुओं के साथ सरकार और प्रशासन से इनके घर के लिए एंबुलेंस लायक रोड बनाने की मांग की है। 

error: Content is protected !!