Taxi Driver Murder: सोलन में टैक्सी ड्राइवर हत्या मामले में पुलिस के हाथ लगी अहम जानकारी, जाने कैसे हुई थी हत्या

सोलन. हिमाचल प्रदेश के सोलन (Solan) जिले में मंगलवार को कालका-शिमला नेशनल हाईवे पर टैक्सी चालक की हत्या (Taxi Driver Murder Case) मामले में अहम जानकारी पुलिस के हाथ लगी है. फोरेंसिक टीम को यह जानकारी हाथ लगी है. पुलिस मामले की जांच कर रही है.

जानकारी के अनुसार, सोलन के ध्यारीघाट क्षेत्र में बाबा बालक नाथ मंदिर के नीचे हरियाणा नम्बर की टैक्सी में खून से लथपथ चालक का शव मिला था. प्रारंभिक तौर पर सिर पर गहरा घाव होने के कारण यह अनुमान लगाया जा रहा था कि चालक की मौत गोली लगने से हुई है, लेकिन जब फोरेंसिक टीम ने गहनता से जांच की तो पता चला है कि मौत गोली लगने से नहीं, बल्कि किसी तेजधार हथियार के वार से हुई है.

हालांकि, जब तक पोस्टमार्टम की रिपोर्ट नहीं आती है, मौत के असली कारणों का खुलासा नहीं हो पाएगा. हत्यारे कौन है, इस बारे में छानबीन की जा रही है. एनएच पर लगे सीसीटीवी फुटेज भी खंगाले जा रहे हैं. जानकारी के अनुसार, ड्राइवर दिल्ली से है और उसकी उम्र करीबन 45 वर्ष थी.

शिमला से आई जांच टीम

सहायक निदेशक फोरेंसिक लैब जुन्गा (शिमला) सुरेंद्र पाल ने बताया कि , चालक की गोली लगने से नहीं, बल्कि तेज़धार हथियार से मौत हुई है. कार में बहुत से साक्ष मिले है, जिसके आधार पर, हत्यारे तक पहुंचा जा सकता है. उन्होंने बताया कि मौके से कुछ बाल और रक्त के सैम्पल बरामद हुए है.

क्या कहती है पुलिस

डीएसपी संतोष शर्मा ने बताया कि जैसे ही उन्हें घटना की सूचना मिली तो वह मौके पर पहुंचे थे. कार में ड्राइवर अचेत था. जांच करने में पाया गया कि उसकी मौत हो चुकी है. फिलहाल, सभी पहलुओं पर गहनता से जांच की जा रही है. यह हत्या क्यों की गई और किसने की, इस बात की तह तक पहुंचने का पुलिस प्रयास कर रही है.

Please Share this news:
error: Content is protected !!