By Election Himachal: मंत्री सुरेश भारद्वाज का वीडियो वायरल, कहा, भाजपा प्रत्याशी के जरिए ही मिलेंगे ठेके

शिमला. हिमाचल प्रदेश के शिमला जिले (Shimla) में जुब्बल-कोटखाई विधानसभा सीट (Jubbal Kotkhi Assembly Seat) पर उपचुनाव को लेकर प्रचार में जुटे शहरी विकास मंत्री सुरेश भारद्वाज का ठेकेदारों को लेकर दिया बयान सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहा है.

जनसभा में मंत्री सुरेश भारद्वाज (Minister Suresh Bhardwaj) कहते नजर आ रहे हैं कि यहां विकास के हर काम और ठेके भाजपा प्रत्याशी नीलम सरैईक और भाजपा सरकार के माध्यम से ही मिलेंगे. वीडियो (Video) में भारद्वाज कह रह हैं कि बहुत से ठेकेदार सोचते हैं कि वे उधर से आ जाएंगे और उनका चलता रहेगा. वैसे ठेके नहीं मिलेंगे. सोशल मीडिया पर यह वीडियो जमकर वायरल हो रहा है.

दरअसल, सुरेश भारद्वाज इस सीट के लिए भाजपा की ओर से चुनाव प्रभारी नियुक्त किए गए हैं. वह लगातार यहां डटे हुए हैं और नीलम सरैइक के लिए वोट मांग रहे हैं.

कोटखाई में फंसी भाजपा
भाजपा ने यहां से नीलम सरैइक को टिकट दिया है. यहां से टिकट के लिए पूर्व भाजपाई मंत्री नरेंद्र बरागटा के बेटे चेतन बरागटा दावेदार थे. लेकिन उनका टिकट भाजपा ने काट दिया. अब चेतन यहां से आजाद चुनाव लड़ रहे हैं. उनके समर्थन में बड़़ी संख्या में लोग भाजपा से इस्तीफा भी दे चुके हैं. कोटखाई में 70 हजार के करीब वोटर्स हैं और यह सीट कांग्रेस का गढ़ मानी जाती है. यहां से वीरभद्र सिंह को भी 1991 में हार का सामना करना पड़ा था.

चेतन के साथ जाने वाले पार्टी से निकाले
बता दें कि जुब्बल-कोटखाई विधानसभा क्षेत्र में भाजपा का मिशन निष्कासन जारी है. सोमवार को 15 पदाधिकारियों का निष्कासन हुआ था तो मंगलवार को 11 और पदाधिकारियों पर निष्कासन की गाज गिरी है. पार्टी विरोधी कार्य करने वालों पर कार्रवाई की गई है. भाजपा के बागी और आजाद चेतन बरागटा का समर्थन करने वाले भाजपाई का निष्कासन किया गया है. भाजपा जिला महासू के अध्यक्ष अजय श्याम ने इन 11 पदाधिकारियों को पार्टी से 6 साल के लिए निष्कासित कर किया है. इससे पहले, महिला मोर्चा ने भी अपने पदाधिकारियों को बाहर का रास्ता दिखाया था.

त्रिकोणीय मुकाबला है यहां
जुब्बल-कोटखाई विधानसभा क्षेत्र में मुकाबला त्रिकोणीय नजर आ रहा है. कांग्रेस की ओर से यहां पर दो बार के विधायक रहे रोहित ठाकुर को उतारा गया है. वहीं, भाजपा ने नीलम सरैइक को टिकट दिया है. आजाद लड़ने वाले चेतन बरागटा की वजह से यहां भाजपा की मुश्किलें बढ़ी हैं, लेकिन मुकाबला त्रिकोणीय हो गया है. चेतन के पिता यहां से 2017 में विधानसभा चुनाव जीते थे. लेकिन बाद में उनका निधन होने से यह सीट खाली हो गई है.

HOTEL FOR LEASEHotel New Nakshatra

Hotel News Nakshatra for Lease. Awesome Property with 10 Rooms, Restaurant and Parking etc at Kullu.

error: Content is protected !!