Treading News

हिमाचल प्रदेश के 50 कालेज में सौर ऊर्जा संयंत्र से चलेंगे स्मार्ट क्लास रूम, कंप्यूटर और पंखे

Himachal Pradesh News: राज्य के सरकारी कालेज सौर ऊर्जा का संदेश भी देंगे। सरकारी कालेज में स्मार्ट क्लास रूम, कंप्यूटर और पंखे सौर ऊर्जा से तैयार की गई बिजली से ही चलेंगे।

ऐसा करके जहां कालेज सौर ऊर्जा का संदेश देंगे। वहीं हर माह आने वाले लाखों के बिजली बिल से भी निजात मिल सकेगी। पहले चरण में प्रदेश के 50 कालेज की छत पर सोलर पैनलिंग करके सौर ऊर्जा संयंत्र स्थापित किए जाएंगे। उच्च शिक्षा निदेशालय ने अधिक धूप वाले कालेज का ब्योरा मांगा है। मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने वित्तीय वर्ष 2022-23 के बजट में इसकी घोषणा की थी। उनकी घोषणाओं को अमलीजामा पहनाने पर काम शुरू हो गया है।

निदेशक उच्चतर शिक्षा विभाग डा. अमरजीत शर्मा ने इसको लेकर सभी कालेज को एक सर्कुलर भेजा है। इसमें पूछा गया है कि प्रदेश के कितने कालेज ऐसे हैं, जहां पर पहले से सोलर पैनलिंग कर सौर ऊर्जा उपकरण स्थापित किए जा चुके हैं। कितने कालेज में सौर ऊर्जा पैनल लगाए जा सकते हैं।

बिजली बचत का देंगे संदेश

बिजली की बचत की दिशा में सरकार ने यह निर्णय लिया है। सरकार ने हाइड्रो के बजाय सौर ऊर्जा का अधिक दोहन करने का फैसला लिया है। प्रदेश के कई सरकारी विभागों की छतों पर सौर ऊर्जा पैनल स्थापित किए गए हैं। इसी कड़ी में अब शिक्षण संस्थानों में भी पैनल लगाने की तैयारी शुरू हो गई है। उच्च शिक्षा निदेशक डा. अमरजीत कुमार शर्मा ने बताया कि दिनभर जिन शिक्षण संस्थानों में धूप अधिक होती है, वहां पैनल सिस्टम लगाए जाएंगे। सभी शिक्षण संस्थानों से रिपोर्ट आने के बाद सरकार से इसको लेकर मंजूरी ली जाएगी।

हिमऊर्जा के सहयोग से स्थापित होंगे सोलर पैनल

शिक्षा विभाग हिमऊर्जा के सहयोग से सोलर पैनल लगाएगा। पहले विभाग इसके लिए कालेज का चयन करेगा। उसके बाद इनकी सूची तैयार कर वहां पर सोलर पैनल स्थापित किए जाएंगे। हिमऊर्जा ने इससे पहले प्रदेश के कई सरकारी विभागों के कार्यालयों की छतों पर भी सोलर पैनल स्थापित किए हैं। राज्य सचिवालय, प्रदेश उच्च न्यायलय, शिमला के उपायुक्त कार्यालय, एचआरटीसी मुख्यालय सहित कई अन्य विभागों के भवनों पर यह सोलर पैनल स्थापित किए जाएंगे।

Comments: