हिमाचल के कालाअंब, बद्दी और परवाणु में बनी छह दवाओं के सैम्पल फेल

Hiamchal News: प्रदेश में बनी 6 दवाओं के सैंपल फेल हो गए हैं। दवा मानक नियंत्रण संगठन (सी.डी.एस.सी.ओ.) ने इस माह का ड्रग अलर्ट जारी कर दिया है। देश में बनी कुल 19 दवाओं के सैंपल फेल हुए हैं। इनमें 6 दवाएं प्रदेश में बनी हैं। सी.डी.एस.सी.ओ. ने पूरे देश में 627 दवाओं के सैंपल एकत्रित किए थे जिनमें से 22 दवाओं के सैंपल फेल हुए हैं। जिन दवाओं के सैंपल फेल हुए हैं उनमें हार्ट, हाईपरटैंशन, एलर्जी, हड्डी व रक्त वाहिनियों की दवाएं शामिल हैं। ड्रग विभाग ने इन उद्योगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करते हुए कारण बताओ नोटिस जारी कर दिया है। यही नहीं, इन दवाओं के बैच के स्टॉक बाजार से रिकॉल करने के भी निर्देश दिए हैं।

सी.डी.एस.सी.ओ. से मिली जानकारी के अनुसार प्रिमस फार्मास्यूटिकल कालाअम्ब की इनमैक्सीन आर का बैच नम्बर पीसी -111958, मैडिपोल फार्मास्यूटिकल बद्दी की क्लोपीडोग्रेल एंड एस्प्रिन का बैच नम्बर टीएसीबी -011, मैसर्ज टैरेस फार्मास्येटिकल संसारपुर टैरेस की अम्लोडिपाइन का बैच नम्बर 2000968, मैसर्ज ग्लेनमार्क फार्मास्यूटिकल किश्नपुरा की टेल्मिसार्टन 40 एम जी का बैच नम्बर 05201874, लीगेन हैल्थ केयर परवाणु की डिफैंहाइड्रामाइन हाइड्रोक्लोराइड का बैच नम्बर एलएक्स 5435 व विंगज बायोटैक बद्दी की फिक्साफीनाडिन हाइड्रोक्लोराइन एफएक्सएनटी 1009 का सैंपल फेल हुआ है।

राज्य दवा नियंत्रक नवनीत मरवाह ने बताया कि जिन उद्योगों की दवाओं के सैंपल फेल हुए हैं, उन सभी को कारण बताओ नोटिस जारी किया गया है। प्रदेश में ड्रग विभाग की सख्ती के कारण ही दवाओं के सैंपल फेल होने के मामले लगातार कम हो रहे हैं। विभाग ने कई उद्योगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की है।

Get delivered directly to your inbox.

Join 61,615 other subscribers

error: Content is protected !!