रजत पदक विजेता निषाद कुमार का ऊना में जोरदार स्वागत, लोगों ने दिया दिल खोल कर मान सम्मान

ऊना। हिमाचल (Himachal) में कदम रखते ही निषाद कुमार (Nishad Kumar) का जोरदार स्वागत हुआ। लोगों ने अपने हीरो कंधे पर बिठाकर उसका इस्तकबाल किया।

मेहतपुर से निषाद के घर तक लोगों का हुजूम उमड़ पड़ा। निषाद के माता-पिता और बहन ने अपने लाडले का ढोल नगाड़ों से स्वागत किया। इस मौके पर छठे वित्त आयोग के अध्यक्ष सतपाल सिंह सत्ती भी मौजूद रहे।

एथलीट निषाद कुमार ने करीब डेढ़ साल बाद देवभूमि हिमाचल की धरती पर कदम रखा। निषाद कुमार के मेहतपुर पहुंचते ही उनकी मां ने अपने आंचल निषाद के सिर पर ओढ़ाया। वहीं, डेढ़ साल बाद बेटे को सामने से देखने पर उनकी मां फफक कर रो पड़ीं। वहीं, निषाद के पांव छूते ही उनके पिता ने गले से लगा लिया।

मीडिया कर्मियों से बात करते हुए निषाद ने कहा कि परेशानियों का दौर जीवन में आया। अनेक परेशानियों को झेला। हर खिलाड़ी परेशानियों के दौर को देखता है, लेकिन खुश हूं कि देश के लिए मेडल जीतने का सौभाग्य मिला है। अपने जिले और राज्य के साथ-साथ देश का नाम कर पाया हूं।

उन्होंने कहा कि 29 अगस्त को भारत में राष्ट्रीय खेल दिवस मनाया जा रहा था। वहीं, इसी अवसर पर टोक्यो में उनके सिल्वर मेडल जीतने की खुशी दोगुनी हो गई। निषाद कुमार ने अपनी इस उपलब्धि का श्रेय भारत और हिमाचल की सरकारों के साथ-साथ अपने कोच और हिंदुस्तान के पूरी जनता को दिया है। निषाद कुमार का अगला लक्ष्य 2024 में फ्रांस में होने वाली पैरालंपिक (Paralympics) है। उनका कहना है कि इस बार जो कमी रह गई। उसे 2024 में पूरा करेंगे।

error: Content is protected !!