शिमला पुलिस ने राजस्थान से दबोचा हाई प्रोफाइल ठग, ठेकेदारों को ऐसे बनाया था ठगी का शिकार

शिमला: शिमला की स्मार्ट पुलिस ने केंद्रीय सड़क परिवहन और उच्च मार्ग का चीफ इंजीनियर बताकर शिमला के ठेकेदारों के साथ ठगी करने वाले हाई प्रोफाइल शातिर ठग को राजस्थान से गिरफ्तार किया है। पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार शिमला पुलिस ने शातिर को राजस्थान के जगतपुरा से गिरफ्तार किया है। शिमला पुलिस के अधिकारी ने जानकारी देते हुए बताया कि पुलिस के हाथ आया यह शातिर शिमला में 7 ठेकेदारों को सड़क निर्माण का काम दिलाने का झांसा देकर 57 लाखों की ठगी करने के बाद फरार हो गया था।

वर्ष 2019 का है मामला

ठेकेदारों से हाई प्रोफाइल ठगी का यह मामला वर्ष 2019 का है लेकिन पीड़ित ठेकेदारों ने इसकी शिकायत पुलिस में बीते 27 अगस्त को दी थी। पुलिस ने शिकायत आने के बाद छोटा शिमला थाना में धोखाधड़ी का मामला दर्ज कर पड़ताल शुरू की। पुलिस ने एक माह के अंदर ठेकेदारों से 57 लाख की ठगी कर फरार हुए शातिर ठग का पता लगाकर उसे हिरासत में लिया है। पुलिस के अनुसार आरोपी केंद्रीय महकमें के अंतर्गत आने वाले सड़कों को बनाने का काम दिलाने के लिए प्रोसैसिंग फीस से लेकर अन्य कार्य के लिए एडवांस में पैसे लेता था। शिमला के 7 ठेकेदारों ने पुलिस में शिकायत दर्ज करवाई है कि आरोपी ने प्रोसैसिंग व अन्य फीस के नाम पर उनसे 57.62 लाख रुपए की राशि हड़प ली। शिमला पुलिस ने इस मामले में 420 में केस दर्ज कर किया है और आरोपी को पकड़ लिया है।

इन ठेकेदारों ने दी शिकायत

पुलिस के अनुसार जगदीश, किशन, बलवान, संजय, मनोज कुमार, काशी राम, अनुराग, संदीप और महेंद्रा सिंह 5 से 9 लाख रुपए की ठगी के शिकार हुए हैं। पुलिस में सिर्फ  सात ठेकेदारों ने ही शिकायत दी है। पुलिस ने शिकायत आने पर छोटा शिमला थाना में मामला दर्ज किया है।

error: Content is protected !!