कोरोना पॉजिटिव होने पर शांता कुमार ने सांझा की अपनी भावनाएं

मेरा पूरा परिवार कोरोना संकट के मोड़ पर आ खड़ा हुआ है। मैं ही क्यों, आज पूरा विश्व इस अभूतपूर्व त्रासदी से जूझ रहा है। विश्व इतिहास का यह पहला संकट पता नहीं कब टलेगा। ये भावनाएं शांता कुमार ने टांडा मैडीकल कालेज में उपचाराधीन होते हुए अपने फेसबुक पेज पर व्यक्त कीं। शुक्रवार को कोरोना पॉजिटिव पाए गए पूर्व मुख्यमंत्री एवं पूर्व सांसद शांता कुमार को मेडिकल कॉलेज टांडा के आइसोलेशन वार्ड के कमरा नंबर 305 में शिफ्ट किया गया है। उनकी धर्मपत्नी शैलजा भी टांडा मेडिकल कॉलेज के कोविड वार्ड में उपचाराधीन हैं।

बकौल शांता कुमार मेरी धर्मपत्नी 3 दिन से कोरोना पीड़ित टांडा अस्पताल में है। आज मैं भी यहीं उसके पास आ गया हूं। 3 दिन के बाद मुझे देखकर वह मुस्कुराईं और सजल नेत्रों से हमने एक-दूसरे को देखा। उसका उपचार चल रहा है। कई उपकरण उसकी सेवा में लगे हैं, लगभग एक घंटा मैं उसके पास बैठा। आज हिमाचल सरकार ने अपने शानदार 3 वर्ष पूरे किए, मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर से बात हुई।

मुझे दुख है कि आज के कार्यक्रम में भाग नहीं ले सका। पिछले कल अटल बिहारी वाजपेयी के जन्मदिन पर लखनऊ विश्वविद्यालय ने अटल जी पर एक बहुत बड़ा वर्चुअल कार्यक्रम रखा था। मेरा मुख्य भाषण रखा था, मैं बहुत कुछ कह कर अटल जी को श्रद्धांजलि देना चाहता था परंतु कोरोना ग्रस्त होने के कारण नहीं कर सका। उन्होंने आगे लिखा है-होइहि सोइ जो राम रचि राखा।

Please Share this news:
error: Content is protected !!