शालिनी अग्निहोत्री की दोनों सोने की अंगूठियां विश्राम गृह से बरामद, 17 अगस्त को वहां ठहरी थी एसपी

मंडी। मंडी की पुलिस अधीक्षक शालिनी अग्निहोत्री की चोरी हुई दो अंगूठी नाटकीय अंदाज में बुधवार को सुंदरनगर के करनोड़ी स्थित वन विभाग के विश्रामगृह के वीआइपी कमरे से मिली हैं।

अंगूठी बरामद होने से मामले में नया मोड़ आ गया है। जांच अधिकारी ने दोनों अंगूठी कब्जे में ले ली है। शालिनी अग्निहोत्री 17 अगस्त को विश्रामगृह में ठहरी थीं। वहां दो कमरे बुक करवाए गए थे।

चांदी की अंगूठी टेबल के नीचे व सोने की तकिये पर पड़ी हुई थी। एक अंगूठी सफाई कर्मी व दूसरी चौकीदार को मिली है। अंगूठी मिलने की सूचना दोनों ने उच्च अधिकारियों को दी। इसके बाद पुलिस टीम मौके पर पहुंची। वीआइपी सेट में 17 अगस्त के बाद कई अधिकारी ठहरे थे। रोजाना कमरे की सफाई होती थी। चादर व तकिये के कवर रोजाना बदले गए, लेकिन इतने दिनों तक किसी को अंगूठी नजर नहीं आई। पहली सितंबर को कमरे में अंगूठी कहां से आई गई, इसको लेकर अब सवाल खड़ा हो गया है कि क्या नियोजित तरीके से वहां इन्हें रखवाया गया।

वीआइपी सेट की पहले भी करवाई थी जांच

शालिनी अग्निहोत्री के आग्रह पर एसडीएम सुंदरनगर ने वीआइपी सेट की जांच करवाई थी। उस समय वहां कुछ नहीं मिला था। मामले की जांच कर रहे एसआइयू मंडी के प्रभारी इंस्पेक्टर पुरुषोत्तम धीमान ने करनोड़ी विश्राम गृह के पांच चौकीदारों व सफाई कर्मियों के बयान कलमबद्ध किए हैं। सभी ने रोजाना कमरे की साफ सफाई किए जाने की बात कही है। पुलिस अब सीसीटीवी कैमरे की फुटेज खंगाल रही है। अंगूठी चोरी मामले में अभी कोई प्राथमिकी दर्ज नहीं की गई है।

महिला सफाई कर्मी ने पीटने के लगाए थे आरोप

पुलिस अधीक्षक आवास पर काम करने वाली एक महिला सफाई कर्मी ने शालिनी अग्निहोत्री व महिला थाना प्रभारी मंडी रीता ठाकुर पर मारपीट करने, जातिसूचक शब्दों से पुकारने व बालों से घसीटने का आरोप लगाया था। उसने फिनाइल का सेवन कर आत्महत्या करने की कोशिश की थी। विवाद बढ़ने पर डीआइजी मध्य क्षेत्र मधुसुदन शर्मा ने चोरी मामले की एसआइयू व प्रताड़ना मामले की जांच डीएसपी सरकाघाट को सौंपी थी। प्रताड़ना मामले में डीएसपी सरकाघाट ने महिला सफाई कर्मी सुनीता देवी व वन विभाग में कार्यरत उसके पति के बयान दर्ज किए हैं।

किसने क्या कहा

विश्राम गृह के वीआइपी सेट से दो अंगूठी मिली हैं। यह पुलिस अधीक्षक मंडी की बताई जा रही है। कमरे में अंगूठी कैसे आई यह जांच का विषय है। शालिनी अग्निहोत्री 17 अगस्त को विश्रााम गृह में ठहरी थी। चौकीदार व सफाई कर्मी ने ईमानदारी का परिचय दिया है।

एचके सरबटा, निदेशक वन प्रशिक्षण संस्थान करनोड़ी

अंगूठी बरामद होने के मामले में पांच लोगों के बयान दर्ज किए गए हैं। सभी पहलुओं को ध्यान में रखकर जांच की जा रही है।

पुरुषोत्तम धीमान, जांच अधिकारी

मामले की जांच चल रही है। अभी इस पर कुछ नहीं कहूंगी। सच सबके सामने आएगा।

शालिनी अग्निहोत्री, पुलिस अधीक्षक मंडी

One thought on “शालिनी अग्निहोत्री की दोनों सोने की अंगूठियां विश्राम गृह से बरामद, 17 अगस्त को वहां ठहरी थी एसपी

  1. Yes, it is not acceptable. Online or offline Complaint Should be registered, by a person, who is having evidence of above. Thanks, Ramesh Chand Alias Ramesh Bhardwaj, Thinker, Writer And Social Activist.

Comments are closed.

error: Content is protected !!