बंदिशों का दूसरा दिन…घरों में लोग कैद: सिरमौर

कोरोना कफ्र्यू के चलते जिला की सड़कों व बाजारों में पसरा सन्नाटा; सिर्फ तीन घंटे खुली रही दुकानें, चप्पे-चप्पे पर पुलिस कर्मी तैनात हिमाचल प्रदेश सरकार द्वारा प्रदेश भर में लागू किए गए कोरोना कफ्र्यू के संशोधित अधिसूचना के दूसरे दिन मंगलवार को जिला सिरमौर में पूरी तरह से सन्नाटा पसरा रहा। केवल तीन घंटे के लिए सुबह निर्धारित अवधी के दौरान जिला के शहरी व ग्रामीण क्षेत्रों के बाजार खोले गए। इस दौरान लोग घरों से बाहर तो निकले, परंतु बाजारों में कहीं पर भी खास भीड़ नजर नहीं आई। केवल नाहन शहर के बड़ा चौक जो कि शहर का मुख्य फल व सब्जी बिक्री का केंद्र है में कुछ समय के लिए लोगों की भीड़ जरूर नजर आ रही थी। इस दौरान सामाजिक दूरी का कुछ क्षणों के लिए जरूर पालन नहीं दिखाई दिया, परंतु लोग कुछ समय बाद स्वयं एक-दूसरे को गाइड करते नजर आए। जैसे ही 11 बजे का समय पूरा हुआ तो व्यापारियों ने चालान के डर के मारे अपनी दुकानों को तुरंत बंद कर दिया था। इस दौरान पुलिस की टीमें भी बाजार में मुस्तैद नजर आई तथा वाहनों की संख्या भी इक्का-दुक्का ही नजर आ रही थी। केवल आवश्यक कार्य से ही लोग घरों से बाहर निकल रहे थे। पुलिस बकायदा शहर के मुख्य बाजार व विभिन्न हिस्सों में तैनात रही। इसके अलावा जिला सिरमौर के पांवटा साहिब, राजगढ़, शिलाई, संगड़ाह, सराहां, ददाहू आदि क्षेत्रों में भी पूरी तरह से प्रदेश सरकार व प्रशासन के नियमों का असर दिखाई दिया। सड़कों पर घूमने वाले लोगों से बकायदा पूछताछ की जा रही थी। इसके अलावा औद्योगिक क्षेत्र कालाअंब व पांवटा साहिब में उद्योगों के कर्मचारियों की आवाजाही जरूर दिखाई दी, परंतु बकायदा उनसे भी पुलिस पूछताछ कर रही थी। मंगलवार को दूसरे दिन पूरी तरह से जिला सिरमौर में कोरोना कफ्र्यू के साथ लोग कंधे से कंधा मिलाकर नजर आए।

error: Content is protected !!