कुल्लू में निजी स्कूल ने 39 स्टाफ को बुलाया, एडीएम ने वसूला पांच हजार जुर्माना

एक ओर सरकार कोरोना के बढ़ते हुए मामलों को देखते हुए शिक्षण संस्थानों को बंद करने का निर्णय ले रही है, वहीं दूसरी ओर कई निजी स्कूल इसकी अवहेलना कर रहे हैं। अभी दो दिन पूर्व पूर्व ही कुल्लू के एक निजी स्कूल में औचक निरीक्षण के दौरान पांच हजार का जुर्माना वसूला था। क्योंकि स्कूल में कक्षाओं को चलाया जा रहा था। अब हालिया प्रकरण में एसडीएम मनाली ने मनाली में ही एक निजी स्कूल का निरीक्षण किया। क्योंकि स्कूल में शिक्षकों को बुलाने के संदर्भ में बारे में कई तरह की शिकायतें आ रही थी। स्कूल पहुंचने पर टीम ने पाया कि जो भी जानकारी उन्हें मिल रही थी, वे सही थी।

रोस्टर के हिसाब से अध्यापकों को स्कूल नहीं बुलाया जा रहा था। स्कूल में 41 का कुल स्टाफ था और स्कूल में वीरवार को 39 स्कूल का स्टाफ आया था। स्कूल के लिए जो भी एसओपी जारी की गई हैं, उनकी पालना नहीं की जा रही थी। कोरोना नियमों का उल्लंघन करने पर 10 हजार का जुर्माना किया गया है। जिला उप निदेशक एलीमेंटरी सीता राम बसंल ने बताया कि विद्यालय प्रशासन को आगाह भी किया गया है कि वे आने वाले समय में भी एसओपी का पालन करें। जब रोस्टर ही फाॅलो नहीं की जा रहा है तो चालान कटना तो लाजिमी था। उन्होंने बताया कि छापे के दौरान एसडीएम मनाली, पुलिस प्रशासन व शिक्षा विभाग की टीम थी। उप निदेशक ने कहा कि भविष्य में किसी भी स्कूल प्रशासन ने अगर एसओपी का पालन नहीं किया तो उन पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

error: Content is protected !!