कुल्लू में एसडीएम ने बंद करवाया जन्माष्टमी का कार्यक्रम, युवाओं ने उठाए सवाल

कुल्लू: जिला मुख्यालय ढालपुर मैदान में चल रहे जन्माष्टमी के कार्यक्रम को देर शाम एसडीएम कुल्लू विकास शुक्ला द्वारा बंद करवा दिया गया, वहीं कार्यक्रम के बंद होने के चलते विकास शुक्ला व युवाओं के बीच बहस भी हो गई।

हालांकि बाद में इस कार्यक्रम को बंद कर दिया गया। बता दें कि ढालपुर में कृष्णा उमंग समिति द्वारा 2 दिवसीय जन्माष्टमी का कार्यक्रम आयोजित किया जा रहा था। मंगलवार को भी दोपहर बाद यहां डीजे की धुन पर युवा नाच रहे थे। शाम के समय एसडीएम पुलिस बल के साथ मैदान में पहुंचे। इस दौरान उन्होंने कोरोना नियमों का हवाला देते हुए कार्यक्रम को बंद करने का आग्रह किया तो वहां नाच रहे युवाओं व समिति के आयोजकों के साथ उनकी इस मामले को लेकर बहस हो गई। इस कार्यक्रम में शाम के समय प्रदेश कांग्रेस कमेटी के महासचिव भुवनेश्वर गौड़ भी भाग लेने पहुंचे हुए थे। कार्यक्रम बंद होने पर स्थानीय युवाओं ने राजनीतिज्ञों के दबाव पर कार्यक्रम बंद करने का आरोप लगाया।

जब मुख्यमंत्री के कार्यक्रम में भीड़ जुट सकती है तो धार्मिक कार्यक्रमों पर पाबंदी क्यों

युवाओं का कहना है कि जब मुख्यमंत्री के कार्यक्रम में हजारों लोगों की भीड़ हो सकती है तो धार्मिक कार्यक्रम पर इस तरह की बंदिशें क्यों, वहीं प्रदेश कांग्रेस कमेटी के महासचिव भुवनेश्वर गौड़ का कहना है कि ऐसे धार्मिक कार्यक्रम में राजनीति नहीं लानी चाहिए और अधिकारियों को भी राजनीतिक दबाव में काम नहीं करना चाहिए। उन्होंने कहा कि बीते दिनों मनाली में मुख्यमंत्री के कार्यक्रम में हजारों लोगों की भीड़ थी और इस कार्यक्रम में कोविड-19 के नियमों की पालना भी नहीं की गई जबकि जन्माष्टमी के कार्यक्रम में युवा मास्क पहने हुए थे, ऐसे में इस तरह के कार्यक्रम पर प्रशासन द्वारा रोक लगाना बिल्कुल भी सही नहीं है।

error: Content is protected !!