भारी बारिश के कारण पेड़ गिरने और लैंडस्लाइड से सड़कें बंद, जखल में पेड़ गिरा और बरधान में भूस्खलन

नगरोटा सूरियां खंड की पंचायत बिलासपुर के गांव जलख में बारिश की वजह से चीड़ का पेड़ गिर गया। पिछले चार पांच दिनों से बारिश जारी है।

जलख में चीड़ का पेड़ गिरने से सड़क बंद हो गई है और वाहनों से आवजाही ठप है। बारिश के कारण लोगों के काम धंधे पर असर पड़ रहा है। बता दें एक डेढ़ हफ्ता पहले बारिश न होने से लोग परेशान थे। लेकिन अब लोगों को लगातार बारिश ने परेशान कर दिया है। पशुओं के लिए घास की किल्लत हो गई है। जिन्होंने सुखाने के लिए घास काट रखे हैं वे भी सड़ रहा है। दूसरी ओर सब्जियां व अन्य दैनिक उपयोग की चीज़ों की कीमतें भी आसमान को छूने लगी हैं, जिससे लोगों को परेशानी से दो चार होना पड़ रहा है। लगातार हो रही बारिश के कारण लोगों को परेशानी से दो चार होना पड़ रहा है। बारिश के कारण लोग अपने घरों में बंद होकर रह गए हैं। किसी भी कार्य के लिए घरों से बाहर नहीं निकल पा रहे हैं। वहीं खड्ड व नाले भी अपने उफान पर हैं। ऐसे में लोगों यहां वहां जाने में भी दिक्कत हो रही है।

बरोट घटासनी सड़क भूस्खलन से बाधित

बरोट। चौहार तथा छोटा भंगाल घाटी में बारिश से बंद गोभी व फूल गोभी की फसल प्रभावित हुई है। बारिश से उहल व लंबाडग खड्ड सहित अन्य नालों में जलस्तर बढ़ गया है। बारिश से दोनों घाटियों को जोडऩे वाले मुख्य बरोट घटासनी सड़क मार्ग के बीच बरधान में भूस्खलन से सड़क मार्ग छोटे वाहनों के लिए बाधित हो गया। वाहनों की लंबी कतारें लगने से यात्रियों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। सब डिविजन झटिंगरी में तैनात लोक निर्माण विभाग के कनिष्ठ अभियंता भगत राम का कहना है कि भूस्खलन से गिरे मलबे को उठाने के लिए जेसीबी मशीन को लगा दिया गया है। मौसम साफ होते ही बाधित मार्ग को वाहनों की आवाजाही के लिए बहाल कर दिया जाएगा।

इस समाचार पर अपनी प्रतिक्रिया जरूर दें:

error: Content is protected !!