Chamba News: आजादी के 75 साल बाद भी नही बनी सड़क, पीठ पर उठा कर सड़क तक ले जाने पड़ते है मरीज

चंबा। आजादी के 75 वर्ष बाद भी किलोड़ पंचायत के वार्ड कलमला के लिए सड़क नहीं पहुंच पाई है। सड़क के अभाव में पेट दर्द से कहरा रहे 72 वर्षीय चंदू राम पुत्र इंद्र सिंह निवासी कलमला को अस्पताल तक पहुंचाना परिजनों के लिए कड़ी चुनौती रहा।

चंदू राम को उनके बेटे और परिजन चार किमी पीठ पर उठाकर सड़क तक लाए। इसके बाद उन्हें गाड़ी से मेडिकल कॉलेज चंबा पहुंचाया गया। यहां उन्हें दाखिल कर लिया गया। कलमला के लिए सड़क न होने से लोग नेताओं ने नाराज हैं। उन्होंने मंडी संसदीय सीट के उपचुनाव का भी बहिष्कार किया था। अब ग्रामीण मांग को लेकर सड़क पर उतरने की तैयारी में हैं।

गौरतलब है कि एक तरफ तो जिले में लोक निर्माण विभाग प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना और अन्य स्कीमों के जरिए गांव-गांव को सड़क सुविधा से जोड़ने संबंधी बड़े-बड़े दावे करती है। वहीं दूसरी और किलोड़ ग्राम पंचायत के कलमला के लिए चार किमी सड़क का निर्माण न होना विभागीय दावों की पोल खोल रहा है। सड़क के अभाव में गांव में अचानक किसी के बीमार होने पर उसे पीठ पर उठाकर या पालकी से स्वास्थ्य केंद्र तक लेकर जाना पड़ता है। कई बार तो मरीज अस्पताल तक नहीं जा पाते। उसकी बीच रास्ते में ही मौत हो जाती है। इसी ज्वलंत समस्या को लेकर ग्रामीण विभागीय अधिकारियों से लेकर राजनेताओं तक से सड़क बनाने की मांग उठा चुके हैं।

ग्रामीण चंद्रप्रकाश, मनोज कुमार, नरेश कुमार, सुरेश कुमार, प्रताप चंद, विक्रम ने कहा कि चुनावी समर में ही पार्टी नेताओं को उनकी याद आती है। चुनावी नतीजों के बाद ग्रामीणों को दरकिनार कर दिया जाता है। सड़क से अछूते वार्ड के लोग आज भी पैदल चलने के लिए मजबूर हैं। बच्चों को पैदल ही स्कूलों और नौकरीपेशा लोगों को आना-जाना पड़ता है।

एडीएम भरमौर संजय कुमार धीमान ने बताया कि संबंधित विभाग के वार्ड को सड़क सुविधा से जोड़ने के लिए प्रयास करने के बारे में निर्देश दिए जाएंगे।

Please Share this news:
error: Content is protected !!