दो साल बाद स्कूलों में लौटी रौनक, तीसरी से बाहरवीं के छात्र एक साथ पहुंचे स्कूल

हिमाचल प्रदेश में आज तीसरी से 12वीं कक्षा के छात्र एक साथ स्कूल पहुंचे। छात्रों के लिए स्कूल के गेट पर पर ही थर्मल स्केनिंग व सैंनेटाइजर की व्यवस्था की गई है।

कक्षा में भी छात्रों एसओपी के तहत एक बैंच पर एक की छात्र बिठाया गया। अधिक संख्या वाले स्कूलों में एक दिन छोड़कर या सुबह-शाम के सत्र में कक्षाएं लगाई जा रही है। छात्र सुबह फेस मास्क पहन कर कक्षाएं लगाने पहुंचे इसी के साथ ही स्कूलों में रौनक भी लौट आई है। अभी प्रदेश में तीसरी से 12 तक की नियमित कक्षाएं चल रही है। स्कूल में ना को कोई सुबह प्रार्थना सभा और ना ही खेल गतिविधियों का आयोजन होना है।

शिक्षा विभाग की ओर से दो सत्र में स्कूल लगाने और वैकल्पिक दिनों में छात्रों को स्कूल बुलाने के लिए प्रधानाचार्य और मुख्य अध्यापकों को अधिकृत किया है। साथ ही शारीरिक दूरी के नियम का पालन करने के लिए विभाग ने यह निर्णय लिया है।

हालांकि कोविड संक्रमण अभी खत्म नही हुआ है। हर दिन कोरोना के मामले सामने आ रहे है। प्रदेश में मौतों का आंकड़ा भी लगातार बढ़ रहा है। अभी भी प्रदेश में 1083 मामले एक्टिव है और हर दिन 100 से ज्यादा मामले सामने आ रहे है। सबसे बड़ी चुनौती तो ये है कि इन बच्चों का अभी वैक्सीनेशन भी नहीं हुआ है। ऐसे में स्कूलों को कोरोना नियमों का पालन के लिए निर्देश जारी किए गए है। शिक्षा विभाग के निदेशक डॉ अमरजीत सिंह ने बताया कि कोरोना संक्रमण के खतरे को देखते हुए स्कूल बंद किए गए थे। लेकिन अब कोरोना के साथ ही जीना सीखना होगा। उन्होंने बताया कि स्कूलो को कोरोना नियमो के पालन के लिए निर्देश जारी किए गए है और कक्षाओं को लगातार सेनेटाइज किया जाएगा। छात्रों की संख्या के आधार पर स्कूल अपने स्तर पर प्लान तैयार कर कोरोना नियमों के पालन करेंगे। स्कूल पूरी संख्या के साथ खुलेंगे जहां छात्रों की संख्या ज्यादा है, वहां सोशल डिस्टेंसिंग बनाने के लिए वहां सुबह व शाम क्लास लगाई जा सकती हैं उधर हर घर पाठशाला के तहत ऑनलाइन पढ़ाई भी जारी रहेगी, जो विद्यार्थी स्कूल नहीं आना चाहते वे ऑनलाइन पढ़ाई कर सकेंगे। शाम को छुट्टी होने पर स्कूलों को रोजाना सैनिटाइज किया जाएगा। परिसर में जगह-जगह हैंड सैनिटाइजर रखे जाएंगे। यदि कोई बच्चा पाजिटिव आता है तो स्कूल 48 घंटे के लिए बंद कर दिया जाएगा।

Please Share this news:
error: Content is protected !!