रमेश ध्वाला ने उल्लू से कर डाली पूर्व कांग्रेस विधायक सजंय रत्न की तुलना

देहरा (कांगड़ा). अक्सर सुर्खियों में रहने वाले भाजपा विधायर और सीनियर लीडर रमेश धवाला ने फिर सुर्खियों बटोरी हैं. कभी उनका डांस वायरल हो जाता है तो कभी अपनी ही सरकार को घेरते हुए नजर आते हैं, लेकिन एक बार फिर उन्होंने ऐसा कह दिया कि यह खबर बन गई. मीडिया के साथ देहरा में बात कर रहे ज्वालामुखी के भाजपा विधायक व राज्य योजना बोर्ड के उपाध्यक्ष रमेश धवाला ने कांग्रेस के पूर्व विधायक का संबोधन उल्लू से कर दिया.

बोले, सूरज की रोशनी में उल्लू को विकास नजर नहीं आ रहा है. ज्वालामुखी में सियासी लावा धधक रहा है. अभी कुछ दिन पहले ही उनके धुरविरोधी रामलोक धनोटिया को जयराम सरकार ने ओबीसी चेयरमैन बनाया है.

बीते दिन भी भाजपा मंडल ज्वालामुखी के अध्यक्ष मान सिंह राणा ने फेसबुक पर पोस्ट करके युवा मोर्चा में उनके लोगों को पद न मिलने की भड़ास निकाली थी, लेकिन कांग्रेस के पूर्व विधायक संजय रत्न ने प्रेस कांफ्रेंस करके धवाला को अस्पताल के मुद्दे पर घेरा, वो भी धधक रहे ज्वालामुखी में घी डालने का काम हुआ. वहीं, जयराम सरकार कोरोना काल में बंद पड़े जनमंच कार्यक्रम को शुरू कर रही है, उसमें भी धवाला का नाम गायब है.

और क्या बोले धवाला
मीडिया से बात करते हुए रमेश धवाला ने कहा कि देहरा जिला निर्माण के लिए मैं भी पक्षधर हूँ. उन्होंने कहा कि इससे आर्थिक बोझ बढेगा. धवाला ने कहा कि पूर्व विधायक संजय रत्न प्रेस कांफ्रेंस करके जो बोल रहे हैं, यह उनका धर्म है व निभा रहे हैं. धवाला ने कहा-कुछ भी कहना आसान होता है, लेकिन काम करने के लिए मेहनत करनी पड़ती है. धवाला ने कहा-जहां तक अस्पताल की बात है, लोगों की मुश्किल को देखते हुए बस अड्डे के पास निर्माण करवाया था. उन्होंने कहा-अब जहां बना है, लोगों को थ्री व्हीलर में किराया देकर वहां जाना पड़ रहा है.

धवाला ने कहा कुछ प्रधानों ने हाईकोर्ट में अपील की, जिससे अस्पताल निर्माण में स्टे लग गया. अब 15 दिन पहले हाईकोर्ट ने उस अपील को रद्द कर दिया और अब जल्द ही अस्पताल निर्माण होगा. धवाला ने रत्न पर आरोप लगाते हुए सवाल पूछा कि वह जो एक पंचायत में 6-6 महिला मण्डलों को 50-50 हजार रुपए दिए थे. उन्होंने कहा कि क्या यह जानकारी दे सकते हैं कि कितने महिला मंडल चल रहे हैं. धवाला ने पूछा कि इन्होंने 500 से लगभग शिलान्यास उद्धघाटन किए, जिनमें कितनी सड़कें कितने किलोमीटर तक बनी यह जानकारी भी दे.

जनमंच में नहीं लगी ड्यूटी
धवाला ने पूछा कि यह लांछन लगाना की कुछ नहीं हुआ, जिन्होंने काला चश्मा लगाया पहना हुआ है, जिनको दिखाई न दे, दिन में अगर उल्लू को दिखाई नहीं देता है तो सूर्य की किरणों का क्या दोष है? सरकार डिवेलपमेंट करवा रही है. डिवेलपमेंट लोगों को दिखाई दे रही है. धवाला ने कहा कि पूर्व विधायक लोगों को गुमराह कर रहे हैं. धवाला ने कहा कि मल्टीस्टोरी पार्किंग की जगह ट्रामा सेंटर बनता तो अच्छा होता. उन्होंने कहा कि 250 से ज्यादा प्राइवेट पार्किंग वालों को नुकसान होगा. वहीं रमेश धवाला ने कहा कि जनमंच में मेरा न होने से मुझे कोई गिला नहीं है. वाला ने कहा कि जब कोई मंत्री छुट्टी पर होता है तो उनकी ड्यूटी लगती है.

error: Content is protected !!