राकेश पठानियां का विवादित बयान; राम स्वरूप शर्मा क्या कांग्रेसियों के बाप लगते थे

सोमवार को युवा खेल व वन मंत्री राकेश पठानिया के दो कार्यक्रम हुए जिसमें पहले गांव गोलवां व दूसरा गांव पट्टा जाटियां में हुआ। जैसा कि सभी जानते हैं कि राकेश पठानिया बेबाक बोलने के रूप में जाने जाते है। गोलवां में अपने कार्यक्रम के दौरान फिर उनकी जुवान फिसली ओर एक विवादित बयान दे गए ।

उन्होंने मंच पर कहा कि सांसद राम स्वरूप शर्मा क्या कांग्रेसियों के बाप लगते हैं। कांग्रेस ने इस बार विधानसभा सत्र के पहले दिन ही वाकआउट किया कहा कि उनके पास कोई मुद्दा ना होने के कारण उन्होंने सांसद राम स्वरूप शर्मा की मृत्यु पर सीबीआई की जांच बैठने को कहा कि क्या राम स्वरूप शर्मा उनके बाप लगते हैं।

वहीं कहा कि आज नरेंद्र मोदी सरकार के कारण हिमाचल प्रदेश के लोगों का टीकाकरण सम्भव हुआ। कहा कि अगर पपू की सरकार होती तो आज हम लोग यहां ना होते।

जब भी चुनाव आते है तभी राकेश पठानिया नूरपुर को जिला बनाया जाने का राग अलापने लगते है इसी की तर्ज पर गोलवां में भी राकेश पठानिया ने नूरपुर को जिला बनाने का राग अलापा जब मीडिया ने उनसे जिले के बारे में प्रश्न पूछा तो उन्होंने कहा कि वे पिछले पंद्रह सालों से जिले की लड़ाई लड़ रहे हैं तथा कहा कि राजा का तालाब व रे को स्व तहसील बना दिया गया है। अब नूरपुर को जिला बनाने की बारी है।

राकेश पठानिया चले सत महाजन की राह पर

पट्टा में कार्यक्रम के दौरान राकेश पठानिया ने कहा कि जिस तरह सत महाजन कहा करते थे कि पहला ट्रांसफार्मर मैं नूरपुर में दूसरा ट्रांसफार्मर राजा वीरभद्र सिंह शिमला में व तीसरा दिल्ली में कांग्रेस की यूपीए सरकार। इसी तरह कहा कि मैं राकेश पठानिया यहां व शिमला में जय राम तथा दिल्ली में मोदी ट्रांसफार्मर है। बस आप मीटर लगाइए वोल्टेज पूरी मिलेगी।

error: Content is protected !!