शिमला: राष्ट्रपति ने विशेष सदन को किया संबोधित, प्रदेश के विकास में योगदान देने वालों का किया धन्यवाद

हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh) के पूर्ण राज्यत्व के स्वर्णिम वर्ष (golden years) पर शिमला (Shimla) में हिमाचल विधानसभा का विशेष सत्र (special session of himachal assembly) आयोजित हो रहा है।

इस विस विशेष सत्र को राष्ट्रपति रामनाथ सिंह (President Ramnath Singh) ने संबोधित किया। रामनाथ कोविंद ऐसे तीसरे राष्ट्रपति बने हैं, जिन्होंने हिमाचल विस को संबोधित किया है। इससे पहले विस स्पीकर विपिन सिंह परमार द्वारा राष्ट्रपति के प्रति धन्यवाद व्यक्त किया गया। परमार ने रामनाथ कोविंद के शिमला पधारने पर आभार व्यक्त किया। परमार ने राष्ट्रपति को हिमाचल विधानसभा के इतिहास से रूबरू कराया।

विस अध्यक्ष ने अपने स्वागत भाषण के दौरान हिमाचल के विकास में योगदान देने के लिए पूर्व मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह, रामलाल ठाकुर, प्रेम कुमार धूमल के अतिरिक्त जयराम ठाकुर के प्रति भी आभार व्यक्त किया गया। उन्होंने पीएम नरेंद्र मोदी को जन्मदिन की शुभकामनाएं भी दीं। इससे पूर्व राष्ट्रपति कोविंद को कड़ी सुरक्षा के बीच सुबह 11 बजे विधानसभा आए। इस दौरान राष्ट्रपति के साथ उनकी पत्नी व बेटी भी मौजूद रहीं। विस अध्यक्ष के अतिरिक्त राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के संग मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर, राज्यपाल राजेंद्र आर्लेकर व विधानसभा नेता विपक्ष मुकेश अग्निहोत्री को स्टेज पर स्थान दिया गया।

कोविंद ने भाषण में अटल टनल का भी किया उल्लेख

राष्ट्रपति ने अपने भाषण के दौरान पहाड़ी गांधी कांशी राम के अतिरिक्त देश के पहले वोटर कल्पा के श्याम शरण नेगी को भी याद किया। वहीं राष्ट्रपति ने उन लोगों के प्रति भी आभार जताया, जिन्होंने हिमाचल के विकास के योगदान दिया है। इस दौरान राष्ट्रपति ने हिमाचल के पहले मुख्यमंत्री यशवंत सिंह परमार, रामलाल ठाकुर, प्रेम कुमार धूमल के अतिरिक्त वीरभद्र सिंह के योगदान को याद किया। उन्होंने बताया कि हिमाचल वीरभूमि है व यहां करीब एक लाख 20 हजार पूर्व सैनिक हैं। राष्ट्रपति ने कारगिल नायक विक्रम बत्ता, सौरव कालिया सहित कई वीर सैनिकों को याद किया।

राष्ट्रपति द्वारा हिमाचल में हालिया बरसात के मौसम में जान गंवाने लोगों के प्रति संवेदनाएं जाहिर की गईं। राष्ट्रपति ने हिमाचल प्रदेश के कोरोना वॉरियर्स को भी सलाम किया। जानकारी के अनुसार राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद शिमला में चार दिन तक ठहरेंगे। यहां से 19 सितंबर को दिल्ली वापस लौटेंगे। राष्ट्रपति ने अपने भाषण के दौरान अटल टनल का उल्लेख भी किया। साथ ही कोविंद ने बताया कि वो पहली बार वर्ष 1974 में हिमाचल प्रदेश आए थे। राष्ट्रपति द्वारा करीब 15 मिनट तक विस के विशेष सत्र को संबोधित किया गया।

सीएम ने हिमाचल के विकास का किया जिक्र

विस के विशेष सत्र को सीएम जयराम ठाकुर द्वारा भी संबोधित किया गया। सीएम ने अपने भाषण में हिमाचल के पिछले पांच वर्षों के सफर का जिक्र किया। साथ ही सदन को बताया गया कि किस तरह हिमाचल में विकास का यह सफर तय हुआ। इस दौरान सीएम ने पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी बाजपेयी को भी याद किया था। विस अध्यक्ष के बाद नेता विपक्ष मुकेश अग्निहोत्री ने राष्ट्रपति का शिमला पधारने पर आभार जताया।

error: Content is protected !!