पीठासीन अधिकारी सम्मेलन: शिमला में बढ़ेगा पुलिस का पहरा, 36 राज्यों से आएंगे अधिकारी

शिमला। अखिल भारतीय पीठासीन अधिकारियों के सम्मेलन के दौरान विधानसभा से लेकर राजभवन सहित शिमला के शहर के चप्पे पर पुलिस का पहरा रहेगा। इसके अलावा सम्मेलन में आने वाले वीआईपी के लिए बुक किए गए शिमला के निजी होटलों पर भी पुलिस का पहरा रहेगा।

सम्मेलन में लोकसभा स्पीकर ओम बिरला विशेष रूप से शिरकत करेंगे। करीब 100 वर्ष पहले 1921 में शिमला में प्रथम अखिल भारतीय पीठासीन अधिकारियों का सम्मेलन आयोजित किया गया था। उसे सुस्मरण करते हुए इसका 100 वर्षों के उपरांत शिमला में आयोजन किया जा रहा है। इसमें 36 राज्यों की विधान सभाओं/ विधान परिषदों के पीठासीन अधिकारी अध्यक्ष/उपाध्यक्ष तथा प्रधान सचिव/सचिव भी भाग लेंगे।

अखिल भारतीय पीठासीन अधिकारियों के सम्मेलन के लिए दो आएएस अधिकारियों सहित 37 एचएएस अधिकारी प्रोटोकॉल डियूटी के लिए लगाए गए हैं। सम्मेलन की सुरक्षा के लिए पुलिस अधिकारियों सहित करीब 500 पुलिस कर्मी तैनात किए गए हैं।

सम्मेलन की सुरक्षा में तैनात किए गए पुलिस अधिकारियों द्वारा होटलों का भी बारीकी से निरीक्षण किया जा रहा है। इसके अलावा अखिल भारतीय पीठासीन अधिकारियों के सम्मेलन की सुरक्षा के लिए बोम्ब डिस्पोजल एवं एनटी सबोटेज टीम द्वारा विधानसभा क्षेत्र के एरिया एवं होटलों का निरीक्षण किया जा रहा है।

error: Content is protected !!