थप्पड़ और लात चलाने वाले पुलिस अधिकारियों पर हो सकती है बड़ी कार्यवाही- सूत्र

Himachal News: कुल्लू थप्पड़ एवं लात प्रकरण में तीनों आरोपित पुलिस अधिकारी चार्जशीट हो सकते हैं। सोमवार को राज्य सरकार के सामने घटना के पूरे तथ्य पेश होंगे और सुबूतों के आधार पर कड़ी कार्रवाई तय है।

डीजीपी संजय कुंडू सोमवार को प्रारंभिक जांच रिपोर्ट सौपेंगे। इसे फैक्ट फाइङ्क्षडग रिपोर्ट कहा गया है। यह जांच सेंट्रल रेंज के डीआइजी मधुसूदन ने की है। इसके आधार पर आइपीएस गौरव ङ्क्षसह की मुश्किलें और बढ़ सकती है। इसी मामले में सुरक्षा प्रोटोकाल से जुड़े तकनीकी पहलुओं की रिपोर्ट के लिए एक और कमेटी गठित की थी। यह कमेटी भी अलग से गठित हुई थी। इसमें एडीजीपी कानून व्यवस्था अशोक तिवारी, आइजी इंटेलीजेंस दलजीत ठाकुर, आइजी विजिलेंस रामेश्वर सिंह ठाकुर हैं।

ये तीनों अफसर अपने क्षेत्र में महारत रखते हैं। सिक्योरिटी से संबंधित प्रोटोकाल की इन्हें गहन समझ हैं। ये जो भी रिपोर्ट देंगे वो तथ्यों, सुबूतों पर आधारित होगी, इसके आधार पर सरकार कार्रवाई करेगी। डीआइजी अपनी जांच रिपोर्ट पहले ही डीजीपी को सौंप चुके हैं, इसका डीजीपी कार्यालय गहन अध्ययन कर रहा है।

गौर हो कि कुल्लू प्रकरण ने खाकी के दामन पर भी दाग लगाने का काम किया है। पुलिस को इसे धोने में वक्त लगेगा। लेकिन जिस तरीके से डीजीपी ने तकनीकी कमेटी गठित की है, उससे साफ है कि वह सरकार को तथ्यों पर आधारित रिपोर्ट देंगे। अब सरकार पर निर्भर करेगा कि वह इस रिपोर्ट के आधार पर किसी तरह की कार्रवाई करेगी। आइपीएस गौरव ङ्क्षसह और पीएसओ रहे बलवंत पहले ही सस्पेंड हैं। एएसपी बृजेश सूद को मुख्यमंत्री के सुरक्षा प्रभारी पद से हटा दिया था, लेकिन उन्हें सस्पेंड करने को कोई ग्राउंड नहीं बन पाया था। जांच रिपोर्ट में यह बनेगा या नहीं यह इसका भी जल्द पता चलेगा।

Get delivered directly to your inbox.

Join 61,615 other subscribers

error: Content is protected !!