देव कश्यपी दैंत की अगुवाई में मनाया गया शायर उत्सव, महिला मंडलों ने दी सांस्कृतिक प्रस्तुतियां

तहसील बालीचौकी की नवगठित पंचायत खुहण में शायरी उत्सव बड़े धुमधाम के साथ मनाया गया। हर साल की भांति इस बार भरखोल शायरी में हजारों लोगों ने भाग लेकर इस मेले का भरपूर आंनद लिया। यह मेला आराध्य देवता देव कश्यपी दैंत की अगुवाई में मनाए जाने वाले मेले में अराध्य देवता छोई मेहमान के तौर पर मौजूद रहे।

बताया जाता है इस मेले को शायर उत्सव के अवसर पर इस मेले सैकड़ों सालों से मनाया जाता है। जबकि इस दौरान आराध्य देवता देव कश्यपी दैंत के देव मंदिर से जलेब मेला ग्राउंड बरखोल तक निकाली जाती है। देवकारविध उपरांत लोग सराजी नाटी का आयोजन किया जाता है, जिसमें सैंकड़ों लोग सराजी नाटी का आनंद लेते है। वहीं दोपहर बाद सांस्कृति कार्यक्रम का आयोजन किया गया।

जानकारी देते हुए मेले कमेटी के मुख्या सलाहकार नेसर सिंह ने बताया कि भाषा एंव संस्कृति विभाग मंड़ी के सौंजन्य से मनाए गए इस मेले पंचायत की प्रधान आशा देवी बतौर मुख्यातिथी उपस्थित रही। इस मौके पर सांस्कृति कार्यक्रम का आयोजन किया गया, जिसमें सांस्कृतिक प्रतियोगिता भी कराई गयी। उन्होंने इस प्रतियोगिता अन्य पंचायत के महिला मंडलों व युवक मंडलों ने भी भाग लिया ।

प्रतियोगिता में लक्ष्मी नारायण महिला मंडल खुहण प्रथम, भगवती महिला मंडल बार्ड वकवान पंचायत सुधारनी को द्वितीय स्थान से मिला तो वहीं तृतीय स्थान में शक्ति महिला मंडल धार गरशाल ने बाजी मारी। नेसर सिंह ने बताया कि इस मेले में सांस्कृतिक कार्यक्रम नही किया जाते थे, लेकिन भाषा एंव संस्कृति विभाग द्वारा उनका उत्साह बढ़ाने पर उन्होंने सांस्कृतिक कायक्रम कर अपनी सराजी भेषभूषा से सुशोजित कर अपनी संस्कृति को आगे बढ़ाने के लिए कदम बढ़ाया। आने वाले समय में वह अपनी संस्कृति कार्यक्रम पर अपनी संस्कृति को बचाने के लिए लगातार कार्य करते रहेगें। इस असवर पर पूर्व प्रधान बुध राम, कारदार ठाकुर दास, आभी राम सहित कई महिला मंडल व युवक मंडल के गणमान्य व्यक्ति उपस्थित रहे ।

error: Content is protected !!