चमेरा हादसा अपडेट; गोताखोरों द्वारा दुर्घटनाग्रस्त कार से एक शव बरामद, दूसरा लापता

हिमाचल प्रदेश के चंबा जिला के चागुंई और बगडू गांव में सोमवार को जन्माष्टमी की खुशियां मातम में बदल गईं। इन गांवों के दो युवकों की ऑल्टो कार चमेरा डैम तृतीय में समा गई है।

इस हादसे में एक युवक की मौत हो गई है जबकि दूसरा अभी लापता है। दोनों युवक जेएसडब्ल्यू प्रोजेक्ट में रात की ड्यूटी करने के बाद सोमवार सुबह घर लौट रहे थे।

सुबह करीब 7:45 बजे यह हादसा भरमौर-पठानकोट एनएच पर खड़ामुख के पास हुआ। सूचना देने के बाद भी 10:00 बजे तक प्रशासन की ओर से यहां कोई अधिकारी नहीं पहुंचा। वक्त पर गोताखोर भी नहीं बुलाए गए। इससे लोग भड़क गए और हाईवे को जाम कर दिया। लोगों ने प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी भी की।

हालांकि, बाद में प्रशासन ने डैम से दस मीटर तक पानी कम करवाया और मौके पर एनएचपीसी के गोताखोरों को भी बुला लिया। हादसे के करीब आठ घंटे बाद दोपहर 3:45 बजे गोताखोरों ने कार में फंसे एक शव को निकाल लिया। मृतक की पहचान मनोहर लाल (29) पुत्र मुंशी राम गांव चागुंई के रूप में हुई है।

यह कार मनोहर लाल की थी और वही इसे चला रहे थे। दूसरे युवक गिल्लू राम (33) पुत्र जैसो राम गांव बगडू का अभी कोई सुराग नहीं लगा है। पुलिस अधीक्षक अरुल कुमार ने कहा कि लापता युवक की तलाश जारी है।

मनाली में ब्यास नदी में मिला बुजुर्ग का शव
पर्यटन नगरी मनाली में वोल्वो बस स्टैंड के पास ब्यास नदी में एक बुजुर्ग का शव मिला है। मृतक की पहचान नारायण सिंह (78) निवासी भजोगी, डाकघर मनाली जिला कुल्लू के रूप में हुई है। एसपी गुरदेव शर्मा ने कहा कि पोस्टमार्टम के लिए शव सिविल अस्पताल मनाली भेजा गया है।

error: Content is protected !!