हिमाचल में डंडों के सहारे बचाई जा रही जिंदगियां, सरकार आधारभूत सुविधाएं मुहैया करवाने में नाकाम


RIGHT NEWS INDIA


जिला कुल्लू के साथ सटी लगघाटी की ग्राम पंचायत चौपड़सा के एक बुजुर्ग मरीज को उपचार के लिए डंडों के सहारे उठाकर सड़क तक पहुंचाया। बताया जा रहा है कि वीरवार देर रात बुजुर्ग व्यक्ति को अधरंग का दौरा पड़ा था। इसके बाद परिजनों ने शुक्रवार सुबह ग्रामीणों की मदद से मरीज को डेढ़ किलोमीटर दूर तक उठाकर रुजग गांव पहुंचाया। यहां से मरीज को निजी वाहन की मदद से उपचार के लिए कुल्लू अस्पताल लाया गया। जानकारी के मुताबिक 95 वर्षीय बुजुर्ग चुहड़ू राम को अधरंग को दौरा पड़ गया था, जिससे तबीयत बिगड़ गई। लेकिन सड़क सुविधा न होने के कारण मरीज को अस्पताल पहुंचाने में परेशानी का सामना करना पड़ा।

मरीज को ग्रामीणों ने करीब एक घंटा पैदल चलकर रुजग गांव में स्थित सड़क तक पहुंचाया। ग्रामीण हरिचंद, केवल राम औरलाभ सिंह ने कहा कि आजादी के सात दशक बाद भी पंचायत के कई बाशिंदे सड़क सुविधा से महरूम हैं।

मरीज को डंडो, कुर्सी और चारपाई पर उठाकर डेढ़ किलोमीटर दूर सड़क तक पहुंचना पड़ता है। इससे मरीजों को समय पर उपचार नहीं मिल पाता। सरकार और जिला प्रशासन की अनदेखी का खामियाजा पंचायत की जनता को भुगतना पड़ता है। मामले की पुष्टि ग्राम पंचायत प्रधान राजेश आनंद ने की। कहा कि बड़ी नेरी गांव के बुजुर्ग मरीज को अधरंग का दौरा पड़ा है। गांव तक सड़क न होने के चलते मरीज को डेढ़ किलोमीटर दूर स्थित सड़क तक ग्रामीणों ने उठाकर पहुंचाया है। कहा की मरीज की हालत अब सामान्य है।


Advertise with US: +1 (470) 977-6808 (WhatsApp Only)


error: Content is protected !!