चैलचौक में बन रहे खेलमैदान का विरोध करने पर पंचायत प्रतिनिधियों व स्थानीय जनता ने मिलकर जताया कड़ा विरोध

आज चैलचौक वन विभाग विश्राम गृह के समीप बन रहे खेल मैदान को लेकर कुछ लोगों द्वारा अपनी राजनैतिक रोटियां सेंकने को लेकर स्थानीय लोगों ने कड़ा संज्ञान लिया है। कुछ लोगों ने आरोप लगाया है कि पेड़ों की बलि देकर मैदान को बनाया जा रहा है। इस पर स्थानीय प्रधान इंद्रा देवी ने विस्तार से जानकारी देते हुए बताया कि चैलचौक शमशान घाट क्षेत्र का एक ऐसा शमशान घाट है, जहां पर करीब एक दर्जन पंचायत के लोगों को जलाया जाता है व कुछ लोग जो पेड़ों की कटिंग को लेकर कार्य को रुकवा रहे है। यहां पर पहले से ही शमशान घाट में इस्तेमाल होने वाली लकड़ियों को इसी जंगल से लकड़ियां काट के शमशान घाट में जलाया जाता है। जिस कारण इस मैदान के इर्दगिर्द खाली जगह होने से यहां पर कटिंग की गई है व मैदान को बड़ा आकार दिया जा रहा था।

आज क्षेत्र की लगभग दर्जनों पंचायत प्रधानों, उप प्रधानों, वार्ड सदस्यों व स्थानीय जनता ने नए बन रहे खेल मैदान में बाधा डालने बाले लोगों के खिलाफ कड़ी आपत्ति जताई है। इसके विरोध स्वरूप सभी स्थानीय लोगों ने बताया कि जिस जगह पर मैदान बनाया जा रहा है वहां पर पहले से ही HPMC का बड़ा मैदान है व इसके साथ ही एक अन्य मैदान भी था और यहां के स्थानीय युवा यँहा खेलकूद किया करते थे। उल्लेखनीय है कि यहां पर दो दो मैदान थे व इसके आसपास बेशुमार झाड़ियां थी। स्थानीय लोगों के आपसी सहयोग व श्रमदान से झाड़ियों को काट कर यहां पर एक बड़ा मैदान बनाया जा रहा था, लेकिन कुछ लोगों द्वारा इस मैदान को बनाने को लेकर आपत्ति जताई जा रही है जिसका स्थानीय जनता ने कड़ा विरोध जताया है।

स्थानीय लोगों में कृष्ण वर्मा, टेक सिंह ठाकुर, अभिषेक, हेम राज शर्मा , मनोज कुमार, पंकज सोनी आदि ने बताया कि जिस जगह मैदान की कटिंग का कार्य चला हुआ था वहां पर सिर्फ़ झाड़ियां ही थी और पेड़ बहुत दूर थे झाड़ियों को काटकर ही मैदान का कार्य चला हुआ था। स्थानीय लोगों ने सरकार से माँग की है कि मैदान के विस्तारीकरण को लेकर कार्य निरन्तर जारी रखें। बड़ा खेल मैदान क्यों जरूरी है इसको लेकर स्थानीय लोगों ने बताया कि उपमंडल गोहर में कंही भी कोई बड़ा मैदान नही है जिससे स्थानीय युवाओं को अपनी प्रतिस्पर्धा को निखारने का मौका मिल सके।

इस मौके पर स्थानीय व्यापार मंडल चैलचौक प्रधान शिव प्रकाश, चैलचौक प्रधान इंद्रा देवी, नेहरा स्थित गणई प्रधान सोनिया , टेक सिंह ठाकुर उप प्रधान किल्लिंग, सारिका पूर्व प्रधान नौन, चंपा ठाकुर पूर्व प्रधान, चच्योट पंचायत प्रधान महेन्द्र वर्मा, दिनेश पहड़िया, रत्न लाल, , कमल किशोर, महिलाओं व युवाओं ने अपना विरोध जताया।

Please Share this news:
error: Content is protected !!