हिमाचल के राशन डिपो पर मिलेगी पैकेट बंद चीनी, सरकार उठाएगी खर्च

शिमला। Packed Sugar In Depot, हिमाचल प्रदेश के राशनकार्ड धारकों को अब डिपो में वर्तमान दाम पर ही पैकेट बंद चीनी मिलेगी। प्रदेश सरकार ने पैकेट बंद चीनी के दाम बढ़ाने से हाथ पीछे खींच लिए हैं।

इसका खर्चा सरकार ने खुद उठाने का फैसला लिया है। अभी राशन डिपो में उपभोक्ताओं को खुली चीनी दी जा रही है। बरसात में चीनी खराब हो जाती है। ऐसे में जहां चीनी के सैंपल फेल होने की संभावना होती है, वही लोग भी इस संदर्भ में शिकायत करते हैं। ऐसे में सरकार ने लिफाफे में पैकेट बंद चीनी का फैसला लिया है। खाद्य नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता मामले मंत्री राजिंद्र गर्ग ने पुष्टि की है।

हिमाचल में साढ़े 18 लाख राशनकार्ड उपभोक्ता है। सरकार की ओर से इन्हें आटा, चावल, तीन दालें (दाल चना, माश और मलका), दो लीटर तेल (रिफाइंड और सरसों) चीनी और एक किलो नमक दिया जा रहा है। हिमाचल के उपभोक्ताओं को यह चीनी उपभोक्ताओं को हर महीने करीब छह सौ ग्राम प्रति व्यक्ति चीनी मुहैया करा रही है। गरीब परिवारों को यह चीनी 13 रुपये प्रति किलो और करीब 30 रुपये प्रति किलो एपीएल परिवारों की दी जा रही है। प्रदेश सरकार चीनी पर 10 से 20 रुपये तक की सबसिडी दे रही है।

हिमाचल के डिपो में उपभोक्ताओं को 600 ग्राम, एक किलो पैकेट बंद में चीनी आएगी और इसकी आपूर्ति हरियाणा से होगी। पैकेट बंद चीनी का मामला कैबिनेट में भी गया था। इसमें पैकेट बंद पर चार रुपये तक का खर्च आना था। ऐसे में यह रुपये या तो प्रदेश सरकार को वहन करने थे या इसका बोझ जनता पर पडऩा था। ऐसे में इस मामले पर निर्णय नहीं हो पाया था।

error: Content is protected !!