By-Election 2021: हिमाचल में दोपहर तक हुआ महज 25 प्रतिशत मतदान

हिमाचल में मंडी संसदीय तीन विधानसभा सीटों पर हो रहे उपचुनाव में 15.49 लाख मतदाताओं में से अनुमानित 25 प्रतिशत ने दोपहर 12 बजे तक अपने मताधिकार का प्रयोग किया। चुनाव आयोग ने शनिवार को यह जानकारी दी।मतगणना दो नवंबर को होगी।

मतदान केंद्रों पर मतदाताओं, विशेषकर महिलाओं युवाओं की लंबी कतारें देखी गईं। कुछ बूथों पर सुबह आठ बजे से ही मतदान प्रक्रिया शुरू होने से पहले ही मतदाता पहुंचना शुरू हो गए थे। एक निर्वाचन अधिकारी ने आईएएनएस को बताया, चुनाव प्रक्रिया शुरू होने में देरी की कोई रिपोर्ट नहीं मिली है।

मंडी लोकसभा जुब्बल-कोटखाई, अर्की फतेहपुर विधानसभा सीटों के लिए कुल 15.49 लाख मतदाता 18 उम्मीदवारों के भाग्य का फैसला करेंगे। भाजपा ने 1999 के कारगिल युद्ध में अहम भूमिका निभाने वाले प्रतिष्ठित अधिकारी ब्रिगेडियर खुशाल ठाकुर (सेवानिवृत्त) को कांग्रेस की प्रतिभा सिंह के खिलाफ खड़ा किया है, जो मंडी से दो बार सांसद रह चुकी हैं।

मंडी में मुख्य मुकाबला भाजपा कांग्रेस के बीच है। जुब्बल-कोटखाई विधानसभा उपचुनाव में त्रिकोणीय मुकाबला देखने को मिल रहा है। भाजपा के बागी चेतन ब्रगटा के एक निर्दलीय उम्मीदवार के रूप में मैदान में होने से सत्तारूढ़ पार्टी के वोट बैंक में सेंध लगना तय है।

फतेहपुर विधानसभा में कांग्रेस प्रत्याशी भवानी पठानिया, भाजपा प्रत्याशी बलदेव ठाकुर निर्दलीय उम्मीदवार राजन सुशांत के बीच त्रिकोणीय मुकाबला देखने को मिल रहा है। मंडी निर्वाचन क्षेत्र के लिए कुल 2,361 मतदान केंद्र बनाए गए हैं, फतेहपुर में 141, अर्की में 154 जुब्बल-कोटखाई में 136 मतदान केंद्र बनाए गए हैं। मंडी निर्वाचन क्षेत्र के लाहौल-स्पीति जिले के ताशीगोंग गांव में सबसे ऊंचा मतदान केंद्र 15,226 फीट पर बनाया गया है।

error: Content is protected !!