किसान मोर्चा तथा किसान यूनियन के पदाधिकारियों ने राज्यपाल के माध्यम से राष्ट्रपति को भेजा रोष पत्र

आज संयुक्त किसान मोर्चा हिमाचल प्रदेश तथा भारतीय किसान यूनियन के सदस्य एवं पदाधिकारी राज्यपाल हिमाचल प्रदेश बंडारू दत्तात्रेय से मिले उन के माध्यम से एक रोष पत्र भारत के माननीय राष्ट्रपति को भेजा गया है। इस पत्र के माध्यम से आज पूरे भारतवर्ष में किसानों ने हर प्रदेश के राज्यपाल के माध्यम से राष्ट्रपति को यह एहसास कराया है कि वह इस किसान आंदोलन के प्रति केंद्र सरकार की बेरुखी पर हस्तक्षेप करें तथा किसान बचाओ, लोकतंत्र बचाओ की भावना के साथ विश्व का यह सबसे बड़ा लंबा तथा शांतिपूर्वक आंदोलन है। जो तीन काले कृषि कानून वापस होने तक किसी भी हद में वापस नहीं लिया जाएगा।

इस मौके पर सीमित किसान मोर्चा तथा भारतीय किसान यूनियन के दिल्ली मोर्चे से अधिकृत अनिंदर सिंह नॉटी अध्यक्ष भारतीय किसान यूनियन हिमाचल प्रदेश एवं प्रभारी संयुक्त किसान मोर्चा विनोद कुमार, सरदार गुरमुख सिंह, अध्यक्ष जिला सोलन गुरजीत सिंह सैनी, प्रितपाल सिंह राणा, अमरिंदर सिंह भिंडर, जसविंदर बिलिंग, विनय गोयल, निशान सिंह, लवली सहित सभी सहित अन्य पदाधिकारी शामिल थे। राज्यपाल ने धैर्य पूर्वक किसानों की मांग को सुना तथा इसके अतिरिक्त हिमाचल प्रदेश के सेब तथा अन्य बागवानों को इस वर्ष बेमौसमी आंधी, तूफान, ओलावृष्टि तथा बर्फबारी से हुए नुकसान के कारण अभी तक मुआवजा ना मिलने के बारे में भी एक पृथक ज्ञापन दिया गया। जिस पर राज्यपाल ने शीघ्र सरकार के माध्यम से इस पर कदम उठाने का आश्वासन दिया है।

Get delivered directly to your inbox.

Join 61,628 other subscribers

error: Content is protected !!