हिमाचल से बाहर जाने और प्रवेश का करवाना होगा पंजीकरण, कोरोना संक्रमण को लेकर सरकार सख्त

हिमाचल में कोरोना के बढ़ते मामलों को लेकर सरकार ने सख्ती बरतनी शुरू की है। सरकार की ओर से आदेशों के अनुसार अब प्रवेश और बाहर जाने के लिए अब पंजीकरण भी जरूरी कर दिया है ।

प्रदेश सरकार ने आज इस बाबत दिशा निर्देश जारी कर दिए हैं। हिमाचल में प्रवेश के लिए कोविड ई-पास पर रजिस्ट्रेशन करवाना फिर से अनिवार्य कर दिया गया है। हालांकि कोविड ई पास के साथ ही पुरानी बंदिशें जारी रहेगी। जैसे कोविड वैक्सीन के दोनों डोज लगनेका सर्टिफिकेट या फिर आरटीपीसीआर के 72 घंटों की नेगेटिव रिपोर्ट।

हालांकि नए आदेशों में रोजना बॉर्डर क्रॉस करने वालों को कुछ छूट दी गई है। इसमें, मालवाहक गाड़ियां, औद्योगिक क्षेत्र से जुड़े लोग, सर्विस प्रोवाइडर, सरकारी अधिकारी व साथ ही वो लोग शामिल हैं जिन्हें इलाज के सिलसिले में राज्य से बाहर जाना पड़ता है। हालांकि इसके लिए लिए 72 घंटे की विंडो रखी गई है।इसके अलावा 18 साल से कम उम्र के बच्चे जो माता-पिता के साथ सफर कर रहे हैं उन्हें भी कोविड टेस्ट रिपोर्ट से छूट दी गई है।बता दें सरकार ने हिमाचल में प्रवेश के लिए पहले ही कोविड वैक्सीन की दोनों डोज के प्रमाणपत्र या आरटीपीसीआर/रैट निगेटिव रिपोर्ट अनिवार्य किया है। अब और नई बंदिशें लगाई गई हैं। प्रदेश सरकार के मुख्य सचिव व राज्य आपदा प्रबंधन प्रकोष्ठ के अध्यक्ष राम सुभग सिंह की ओर से इस संबंध में आदेश जारी किए गए हैं।

error: Content is protected !!