नालागढ़ में अब धान की फसल भी बिकेगी


कृषि उपज मंडी नालागढ़ में अब किसान धान की फसल भी बेच सकेंगे। गेहूं के बाद अब धान की फसल भी नालागढ़ कृषि उपज मंडी में खरीदी जाएगी। सरकार व विभाग ने धान खरीदने का भी फैसला लिया है। अब किसानों को अपनी धान बेचने के लिए भी इधर उधर नहीं जाना पड़ेगा। जानकारी के अनुसार नालागढ़ में उपमंडल के किसान नालागढ़ में ही गेहूं की खरीद केंद्र का लाभ उठा रहे हैं। एक मई नालागढ़ में गेहूं खरीद केंद्र खुला जिसमें 24 मई तक 8587 क्विंटल गेंहू खरीदी जा चुकी है। अगर यह खरीद केंद्र नालागढ़ में पहले खुला होता तो गेहूं खरीद में और इजाफा होना था। खरीद केंद्र में 30 मई तक गेहूं खरीदने की अंतिम तिथि रखी गई है। यहां से खरीदा गया गेहूं भारतीय खाद्य निगम (एफसीआई) को भेजा गया है।

गेंहू की बंपर खरीद को देखते हुए यहां पर अब विभाग व सरकार ने धान की फसल को भी खरीदने का मन बनाया है। अब बीबीएन के किसानों को धान के लिए पंजाब की मंडियों में नहीं भटकना पड़ेगा। बीबीएन में किसानों द्वारा 3750 हैक्टेयर जमीन पर धान की फसल लगाई जाती है। जिसका उत्पादन 18 हजार मेट्रिक टन के लगभग हो जाता है। यहां के किसान अपनी धान की फसल को बेचने के लिए पंजाब की मंडियों पर निर्भर रहते है लेकिन अब नालागढ़ में की धान की खरीद शुरू होने से किसानों को सीधा लाभ मिलेगा। पिछले वर्ष सरकार ने धान के 1875 रुपये प्रति कुंतल के दाम निर्धारित किए थे। इस वर्ष इससे ज्यादा होने की संभावना जताई जा रही है। कृषि उपज मंडी के प्रभारी गंगा राम भारद्वाज ने बताया कि आने वाले खरीफ के सीजन में विभाग ने धान को भी खरीदने की योजना बनाई है। सरकार जो भी एमएसपी निर्धारित करेगी उसकी हिसाब से किसानों से धान खरीदा जाएगा।

error: Content is protected !!