Kavita Kantu Death: कविता कंटू के कमरे से मिला नोट, लिखा था सॉरी टू एवरीवन, लव यू डैड

शिमला. हिमाचल प्रदेश के शिमला (Shimla) शहर में समरहिल में 26 साल की जिला परिषद की सदस्य कविता कांटू की संदिग्ध हालात (Kavita kantu death Case) में मौत हो गई. युवती का शव पेड़ से लटका हुआ मिला है. पूरा मामला संदिग्ध बना हुआ है. क्योंकि मौके को देखने से सवाल उठ रहे हैं.वहीं, साथियों के बयानों के बाद से भी पता चला है कि कविता काफी खुशमिजाज थी और सुसाइड (Suicide Case) नहीं कर सकती थी.

जानकारी के अनुसार, कविता कांटू शिमला जिला के रामपुर से जिला परिषद सदस्य थी और समहरहिल सांगटी में रहती थी. पेड़ पर दुपट्टे से कविता की लाश मिली है. हालांकि, सवाल उठ रहे हैं. क्योंकि कविता के घुटने जमीन के साथ लग रहे थे. ऊंचाई इतनी नहीं थी कि सुसाइड किया जा सके.

कविता की सहेली लता ने बताया कि वह बिलकुल खुशमिजाज थी. दो दिन पहले ही उसकी बात हुई थी. वह उसके साथ ही सोई थी. वहीं, एक अन्य युवती शालू ने बताया कि सोमवार सुबह 10 बजे ही उसे खानी दिया था. उसे देखकर लगा नहीं कि वह सुसाइड कर सकती है.

कमरे में छोड़ा नोट

सूत्रों के अनुसार, कविता के कमरे से एक चिट भी पुलिस को मिला है, जिसमें उसने कथित तौर पर लिखा, Sorry to everyone, Love you Dad! इस नोट में कविता ने किसी शख्स का नाम भी लिखा है. वहीं, शिमला की एसपी मोनिका ने मीडिया से बातचीत में कहा कि 26 साल की युवती की डेडबॉडी पेड़ पर लटकी हुई मिली है. फोरेंसिक टीम को भी मौके पर बुलाया गया है. एसपी ने कहा कि जांच के बाद ही कुछ कहा जा सकता है कि यह आत्महत्या है या कुछ और. एसपी घटना के बाद मौके पर दल बल के साथ पहुंची थी. वहीं, शिमला की एसपी मोनिका ने मीडिया से बातचीत में कहा कि 26 साल की युवती की डेडबॉडी पेड़ पर लटकी हुई मिली है. फोरेंसिक टीम को भी मौके पर बुलाया गया है. एसपी ने कहा कि जांच के बाद ही कुछ कहा जा सकता है कि यह आत्महत्या है या कुछ और. एसपी घटना के बाद मौके पर दल बल के साथ पहुंची थी.

लाश पेड़ की छोटी टहनी से लटकी हुई थी और दोनों टांगो का अधिकतर भाग जमीन को छू रहा था. मौके पर माकपा नेताओं के अलावा कविता के परिचित, एसएफआई, एनएसयूआई और एबीवीपी के छात्र नेताओं के अलावा काफी संख्या में लोग पहुंचे थे.

दिवार पर से एक चिट मिला

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार कविता जिस घर में किराए के कमरे में रहती थीं, उस कमरे की दीवार पर एक चिट भी मिला है. इस चिट पर अंग्रेजी में कविता ने कुछ लिखा है. बताया जा रहा है कि हैंडराइंटिग कविता की ही है. इसे कथित तौर पर सुसाइड चिट माना जा रहा है लेकिन इसका पता जांच के बाद और तथ्यों के आधार पर ही चल पाएगा. जिस तरह से कविता का शव पेड़ पर दुप्पटे से लटका मिला, उसे देखकर कोई भी यकीन नहीं कर पा रहा है कि यहां पर सुसाइड किया गया हो. लाश पेड़ की छोटी टहनी से लटकी हुई थी और दोनों टांगो का अधिकतर भाग जमीन को छू रहा था. मौके पर माकपा नेताओं के अलावा कविता के परिचित, एसएफआई, एनएसयूआई और एबीवीपी के छात्र नेताओं के अलावा काफी संख्या में लोग पहुंचे थे. ये सवाल उठ रहे हैं कि कविता के घुटने जमीन के साथ लग रहे थे. ऊंचाई इतनी नहीं थी कि सुसाइड किया जा सके. कविता के कमरे में जो चिट मिला है, उसे पुलिस ने कब्जे में ले लिया है. कविता की डायरी, सोने की चेन और कुछ जरूरी दस्तावेजों को भी कब्जे में लिया गया है. एसपी ने घटना स्थल और कविता के कमरे का जायजा लिया, मौके पर कुछ लोगों से बातचीत की है और पूछताछ भी की है.

इस समाचार पर अपनी प्रतिक्रिया जरूर दें:

error: Content is protected !!