Treading News

नरेन्द्र मोदी कल विभिन्न जन कल्याणकारी योजनाओं के लाभार्थियों से वर्चुअल माध्यम से करेंगे सीधा संवाद

मंडी। भारत अपनी आजादी को चिरस्मरणीय बनाने के लिए आजादी का अमृत महोत्सव मना रहा है। इस अविस्मरणीय उत्सव के दृष्टिगत माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी 31 मई, 2022 शिमला के ऐतिहासिक रिज मैदान से केन्द्र सरकार के विभिन्न मंत्रालयों/विभागों की 16 महत्वपूर्ण जन कल्याणकारी योजनाओं के लाभार्थियों से वर्चुअल माध्यम से सीधा संवाद करेंगे।
 

इसी सन्दर्भ में केन्द्र सरकार के आठ वर्ष का सफलतम कार्यकाल पूर्ण होने के उपलक्ष्य में शिमला में एक राष्ट्र स्तरीय समारोह का आयोजन किया जा रहा है। केन्द्र सरकार द्वारा गरीब लोगों के कल्याण के लिए आरम्भ की गई योजनाओं के दृष्टिगत इस समारोह का नाम गरीब कल्याण सम्मेलन रखा गया है जिसमें देश के सभी जिलों को शामिल किया गया हैं।    
       

इस संवाद का मुख्य उद्देश्य यह समझना है कि कैसे इन योजनाओं से नागरिकों का जीवनयापन सुलभ हुआ है। उल्लेखनीय है कि भारत 2047 में अपनी आजादी के 100 वर्ष पूरे करेगा और इसी परिप्रेक्ष्य में यह सम्मेलन नागरिकों की आकांक्षाओं का आंकलन करने का भी एक अवसर है।
       

केन्द्र द्वारा गरीबों के कल्याण के लिए आरम्भ की गई इस संवाद के माध्यम से लोगों को यह बताना है कि कैसे लोगों द्वारा इन विभिन्न योजनाओं का लाभ उठाया जा सकता है तथा इन योजनाओं से लोगों के आवास, पेयजल की उपलब्धता, भोजन, स्वास्थ्य तथा पोषण, जीवनयापन तथा वित्तीय समावेश पर क्या बदलाव हुए हैं। इन योजनाओं में मुख्यतः प्रधानमंत्री आवास योजना (ग्रामीण एवं शहरी), प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना, प्रधानमंत्री उज्जवला योजना, पोषण अभियान, प्रधानमंत्री मातरू वंदना योजना, स्वच्छ भारत मिशन (ग्रामीण एवं शहरी), जल जीवन मिशन एवं अमरूत, प्रधानमंत्री स्वनिधि योजना, एक राष्ट्र एक राशन कार्ड, प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना, आयुष्मान भारत पीएम जन आरोग्य योजना, आयुष्मान भारत हैल्थ एण्ड वैलनेस सैन्टर तथा प्रधानमंत्री मुद्रा योजना शामिल हैं।
       

इस कार्यक्रम के लिए मंडी के सेरी मंच और सुंदरनगर के कृषि विज्ञान केंद्र में बड़ी एलईडी स्क्रीन लगाकर विशेष व्यवस्था की गई है । इस अवसर पर मंडी में जल शक्ति मंत्री महेन्द्र सिंह ठाकुर तथा विधायकगण भी उपस्थित रहेंगे । इन दोनों जगहों पर मंडी जिला में विभिन्न सरकारी योजनाओं से लाभान्वित लाभार्थी विशेष तौर पर उपस्थित रहेंगे।

इस अवसर पर प्रधानमंत्री  ‘प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि’ के तहत 10 करोड़ से ज्यादा किसानों को 21 हजार करोड़ रूप्ये से अधिक की 11वीं किश्त का हस्तांतरण भी करेंगे।