सीपीएस नीरज भारती ने विधायक विक्रमादित्य को दी सीख, कहा, यही अदा मार जाती है कांग्रेस को

पंजाब में प्रधानमंत्री की सुरक्षा पर कांग्रेस नेताओं में जुबानी जंग तेज हो गई है। फेसबुक पर एक-दूसरे के खिलाफ कांग्रेस नेता टिप्पणी कर रहे हैं। इस घटना को लेकर पार्टीलाइन से हटकर बयानबाजी करने पर शिमला ग्रामीण के विधायक विक्रमादित्य सिंह अपनी ही पार्टी के नेताओं के निशाने पर आ गए हैं। कांग्रेस के कई नेताओं ने बिना नाम लिए विक्रमादित्य सिंह पर सीधा हमला बोला है। कई नेता विक्रमादित्य की फेसबुक पोस्ट को कैप्टन अमरेंदर सिंह के पार्टी से बाहर जाने और भाजपा से नजदीकियां बढ़ाने से भी जोड़ रहे हैं। बता दें कि विक्रमादित्य ने अपनी फेसबुक पोस्ट पर प्रधानमंत्री की सुरक्षा में चूक की बात कही है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री की सुरक्षा में इस तरह के लैप्स हैरान करने वाले हैं।

पंजाब सरकार को इस मामले की तत्काल जांच करवानी चाहिए। जांच के बाद जिन अधिकारियों के स्तर पर कमी पाई गई है, उन पर तुरंत कार्रवाई करनी चाहिए। इस टिप्पणी पर पूर्व सीपीएस नीरज भारती अज्ञैर ऊना के विधायक सतपाल रायजादा ने विक्रमादित्य को कड़ी नसीहतें दी हैं। कांग्रेस शासित राज्य होने के चलते प्रशासन को इस चीज का और ध्यान रखना चाहिए था। अब चूक हुई है, तो कार्रवाई भी निश्चित तौर से होनी चाहिए। इस घटनाक्रम को राजनीतिक तौर पर देखने की जरूरत नहीं है, लेकिन उनकी इस टिप्पणी के बाद राजनीति शुरू हो गई है और जवाब उन्हें अपनी ही पार्टी से मिला है।

यही अदा तो मार जाती है- नीरज भारती
पूर्व सीपीएस नीरज भारती ने फेसबुक पर जो टिप्पणी की है, उसमें उन्होंने कहा है कि अपनी महानता दिखाने और राजनीति से ऊपर उठकर ज्ञान देने के चक्कर में भाजपाइयों का पक्ष लेने वाले कांग्रेस नेता भूल जाते हैं कि इन भाजपाइयों ने कांग्रेस के साथ क्या-क्या किया। तुम जैसे नेताओं की यही अदा तो मार जाती है कांग्रेस को।
साथ नहीं दे सकते, तो चुप रहें

ऊना के सदर विधायक सतपाल रायजादा ने कहा कि आज कांग्रेस पार्टी के नेता अपनी पार्टी और नेतृत्व पर बिना सोचे समझे सवाल उठा देते हैं। एक तरफ कार्यकर्ता हम जैसे नेताओं की लडाई लड़ते हैं। अगर हम भाजपा की धोखाधड़ी के खिलाफ आवाज नहीं उठा सकते और कार्यकर्ता का साथ नहीं दे सकते तो कम से कम चुप ही रह लें।

Please Share this news:
error: Content is protected !!