जनमंच लिस्ट से मंत्री रामलाल मार्कंडेय का नाम गायब, जाने क्या है मामला

शिमला : हिमाचल प्रदेश में 21 नवंबर को होने वाले जनमंच कार्यक्रम में तकनीकी शिक्षा व जनजातीय विकास मंत्री रामलाल मार्कंडेय को छोड़ सभी की ड्यूटी लगाई गई है।

उपचुनाव में हार के बाद यह पहला जनमंच कार्यक्रम है। राजनीतिक गलियारों में इसकी चर्चा है किआखिर उनकी ड्यूटी क्यों नहीं लगाई गई, जबकि वरिष्ठता के आधार पर वह तीसरे नंबर पर हैं। मंडी संसदीय उपचुनाव से मार्कंडेय के गृह क्षेत्र लाहुल स्पीति से भाजपा प्रत्याशी को लीड नहीं मिली थी। राजनीतिक गलियारों में कई तरह की चर्चाएं की जा रही हैैं। मार्कंडेय हाल ही में दिल्ली में भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा से मुलाकात करके लौटे थे। उपचुनाव में हार के बाद हिमाचल मंत्रिमंडल में फेरबदल की चर्चाओं के बीच मार्कंडेय को जनमंच की लिस्ट से गायब होने से जोड़कर भी देखा जा रहा है। उपचुनाव में भाजपा को प्रदेश की चारों सीटों पर हाल का मुंह देखना पड़ा था।

24वें जनमंच के शेडयूल के अनुसार जल शक्ति मंत्री महेंद्र ङ्क्षसह ठाकुर मंडी के धर्मपुर, शहरी विकास मंत्री सुरेश भारद्वाज हमीरपुर के बड़सर, सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री सरवीण चौधरी चंबा के भटियात, कृषि ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज मंत्री वीरेंद्र कंवर शिमला के रोहड़ू, उद्योग मंत्री विक्रम ङ्क्षसह ठाकुर ऊना के गगरेट, शिक्षा मंत्री गोङ्क्षवद ङ्क्षसह ठाकुर कुल्लू के मनाली, स्वास्थ्य मंत्री राजीव सैजल सोलन के कसौली, ऊर्जा मंत्री सुखराम चौधरी सिरमौर के रेणुका जी, वन मंत्री राकेश पठानिया कांगड़ा के जयङ्क्षसहपुर, खाद्य आपूर्ति एवं उपभोक्ता मामले मंत्री राजेंद्र गर्ग बिलासपुर के झंडुता में जनमंच की अध्यक्षता करेंगे।

error: Content is protected !!