Laptop Scheme: दो साल से इंतजार कर रहे मेधावी विद्यार्थियों को अब मिलेंगे लैपटॉप

Himachal Laptop Scheme, हिमाचल प्रदेश में दो साल के इंतजार के बाद 9700 मेधावी विद्यार्थियों को इसी माह लैपटाप मिलेंगे। हिमाचल प्रदेश इलेक्ट्रानिक कारपोरेशन ने लैपटाप खरीद के लिए कंपनी के चयन की प्रक्रिया पूरी कर दी है।

सोमवार को होने वाली बैठक में वर्क आर्डर जारी कर दिया जाएगा। दो साल से मेधावी विद्यार्थी लैपटाप का इंतजार कर रहे थे। शिक्षा विभाग पहले चरण में जनजातीय जिला लाहुल स्पीति, किन्नौर के मेधावियों को लैपटाप पहुंचाएगा। उसके बाद अन्य जिलों में इसकी आपूर्ति की जाएगी। सप्लाई आर्डर देने के डेढ़ माह के भीतर प्रदेश में लैपटाप की आपूर्ति दी जानी है। दसवीं और जमा दो के 8800 और कालेजों के 900 मेधावी विद्यार्थियों को लैपटाप मिलना प्रस्तावित है।

इसलिए हुई खरीद में देरी

शिक्षा विभाग ने लैपटाप खरीद में विवाद के बाद इसकी खरीद कारपोरेशन से करने की बजाय अपने स्तर पर करने की प्रक्रिया शुरू की थी। जैम पोर्टल के माध्यम से इसकी खरीद करने का निर्णय लिया था। लेकिन विभाग की ओर से शुरू की गई इस प्रक्रिया में कंपनियों ने रूचि ही नहीं दिखाई। इसके बाद विभाग को दोबारा इसकी खरीद का जिम्मा इलेक्ट्रानिक कारपोरेशन को ही सौंपना पड़ा। कोरोना के चलते इसके लिए समय पर टेंडर की प्रक्रिया को सिरे नहीं चढ़ाया जा सका। उच्चतर शिक्षा विभाग के निदेशक डा. अमरजीत शर्मा ने कहा कि जल्द ही बच्चों को लैपटाप दे दिए जाएंगे। वहीं हिमाचल प्रदेश राज्य इलेक्ट्रानिक कारपोरेशन के प्रबंध निदेशक तकनीकी अनिल सेमवाल ने कहा कि कंपनी चयन की प्रक्रिया पूरी कर दी गई है। सोमवार को वर्क आर्डर जारी कर दिया जाएगा।

error: Content is protected !!